पिछले साल शेयर बाजार से केवल 4 पर्सेंट मिला मुनाफा, इस साल क्या होगा 

मुंबई- साल के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए। ऊंचे स्तर पर बिकवाली का जोर रहने से दोनों प्रमुख इंडेक्स बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी में गिरावट देखने को मिली। वर्ष 2021 के बंद भाव की तुलना में 2022 में सेंसेक्स 2,586.92 अंक यानी 4.44 प्रतिशत की बढ़त पर रहा है जबकि निफ्टी में 751.25 अंक यानी 4.32 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है।  

पिछले साल बीएसई लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 16.43 लाख करोड़ रुपये बढ़कर 282.44 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया। वर्ष 2022 में दोनों प्रमुख सूचकांक अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे। एक दिसंबर को सेंसेक्स ने 63,583.07 अंक का अपना सर्वोच्च स्तर हासिल किया था। हालांकि गत 17 जून को यह साल के निम्नतम स्तर 50,921.22 अंक पर भी गिरा था। 

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से शुक्रवार को आईसीआईसीआई बैंक, भारती एयरटेल, एचडीएफसी, आईटीसी, नेस्ले, लार्सन एंड टुब्रो, एशियन पेंट्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, पावरग्रिड और इंडसइंड बैंक को खासा नुकसान उठाना पड़ा। दूसरी तरफ, बजाज फिनसर्व, टाइटन, बजाज फाइनेंस, टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, विप्रो, कोटक महिंद्रा बैंक, टेक महिंद्रा, रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारतीय स्टेट बैंक के शेयर बढ़त हासिल करने में सफल रहे।  

आईसीआईसीआई बैंक और जोमैटो में करीब दो फीसदी गिरावट रही। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 20 गिरावट के साथ बंद हुए। बजाज फिनसर्व के शेयरों में सबसे ज्यादा 2.18 फीसदी की तेजी आई जबकि देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 0.18 फीसदी तेजी आई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *