डॉक्टर की बिना परची के दे दी दवाई, मेडिकल वाले को 18 महीने की हुई जेल 

मुंबई- भारत में डॉक्टर के पर्चे पर ही कुछ दवाइयों के बेचने का नियम है। लेकिन, इसका पालन सख्ती से नहीं होता है। ब्रिटेन में ऐसा नहीं होता है। वहां एक फार्मासिस्ट ने ऐसा किया तो उसे 18 महीने के जेल की सजा हो गई। 

बिना पर्चे के दवाई सप्लाई करने के मामले में ब्रिटेन में भारतीय मूल के एक फार्मासिस्ट को 18 महीने की जेल की सजा सुनाई गई है। इस मामले में साल 2020 के दौरान एक महिला की मौत हो गई थी। चार दशक से अधिक वर्षों का अनुभव रखने वाले लंदन के फार्मासिस्ट 67 वर्षीय दुष्यंत पटेल ने अलीशा सिद्दीकी को क्लास सी ड्रग्स की सप्लाई की थी। जिसका शव अगस्त 2020 में इंग्लैंड के नॉर्विच में पाया गया था। नॉर्विच इवनिंग न्यूज के मुताबिक पुलिस ने सिद्दीकी की मौत के चार महीने बाद पटेल को एक संदिग्ध के रूप में पहचाना और उस पर ड्रग्स सप्लाई का आरोप लगाया। 

सिद्दीकी की रिपोर्ट्स से पता चला कि उसकी मौत दवा के ओवरडोज के कारण हुई थी। उसके फोन रिकॉर्ड में जनवरी और अगस्त 2020 के बीच पटेल के साथ लगातार बातचीत को दिखाया गया। कोर्ट ने कहा कि पटेल ने पीड़िता को बिना डॉक्टरी पर्चे या प्रिस्क्रिप्शन के जोल्पीडेम और जोपिक्लोन ड्रग्स की सप्लाई की थी। पटेल को 18 महीने की हिरासत की सजा सुनाते हुए, न्यायाधीश एलिस रॉबिन्सन ने कहा कि यह प्रतिवादी द्वारा विश्वास का उल्लंघन था, जो 40 से अधिक वर्षों से फार्मासिस्ट है। 

न्यायाधीश रॉबिन्सन ने कहा कि पटेल को पता होना चाहिए कि पीड़ित इन दवाओं का दुरुपयोग कर रही थी या इसकी आदी थी। अभियोजन पक्ष ने कहा कि वह बदले में पैसे ले रहा था। पटेल के वकील ने कहा कि यह आश्चर्यजनक था कि उन्होंने काफी मामूली रकम के लिए इस तरह का काम किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *