2022 में सोने पर 13 फीसदी रिटर्न, जानिए इस साल कितना फायदा मिलेगा

मुंबई- साल 2023 सोने के लिए कैसा रहेगा? गोल्ड में पैसा लगाने वालों के बीच यह एक बड़ा सवाल है। जब भी दुनिया में अस्थिरता का माहौल होता है। भू-राजनीतिक तनाव देखने को मिलता है। या शेयर बाजारों में गिरावट का रुख रहता है, तो सोने में तेजी देखने को मिलती है। रूस-यूक्रेन युद्ध, कोरोना महामारी, महंगाई और मंदी जैसे निगेटिव इवेंट्स से साल 2022 भरा रहा है।  

अब साल 2022 में गोल्ड से रिटर्न की बात करें, तो यह 13.79 फीसदी रहा है। इस समय सोने की कीमत 54,730 रुपये प्रति 10 ग्राम है। आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने 2023 की कमोडिटी आउटलुक रिपोर्ट में बताया है कि गोल्ड निवेश के हिसाब से आगे भी अच्छा रहेगा। 

सोने की मौजूदा कीमत इस समय 54,730 रुपये प्रति 10 ग्राम है। इसने साल 2022 में 13.79 फीसदी का रिटर्न दिया है। आईसीआईसीआई डायरेक्ट की कमोडिटी आउटलुक रिपोर्ट 2023 के अनुसार सोने का यह रिटर्न आगे भी जारी रहेगा। रिपोर्ट में वित्त वर्ष 2023 के लिए सोने की कीमत का टार्गेट 62,000 रुपये प्रति 10 ग्राम बताया गया है। यह सोने का ऑल टाइम हाई लेवल होगा। इस तरह गोल्ड में मौजूदा कीमत से 13.28 फीसदी का रिटर्न देखने को मिल सकता है। 

चांदी की बात करें, तो इसमें साल 2023 में सोने से भी अधिक रिटर्न देखने को मिल सकता है। चांदी ने इस साल अब तक 9.91 फीसदी रिटर्न दिया है। चांदी की मौजूदा कीमत 68,870 रुपये प्रति किलोग्राम है। आईसीआईसीआई डायरेक्ट की कमोडिटी आउटलुक रिपोर्ट के अनुसार वित्त वर्ष 2023 में चांदी की कीमत 80,000 रुपये प्रति किलोग्राम तक जा सकती है। इस तरह चांदी में मौजूदा कीमत से 16.16 फीसदी का रिटर्न देखने को मिल सकता है। 

कॉपर, एल्युमिनियम और जिंक ने साल 2022 में अब तक नेगेटिव रिटर्न दिया है। कॉपर की मौजूदा कीमत 724 रुपये प्रति किलो है। इसने इस साल अब तक -2.36 फीसदी रिटर्न दिया है। वित्त वर्ष 2023 में कॉपर 17.40 फीसदी रिटर्न के साथ 850 रुपये प्रति किलो तक जा सकती है। एल्युमिनियम की बात करें, तो इसकी मौजूदा कीमत 208.40 रुपये प्रति किलो है। इसने इस साल अब तक -6.71 फीसदी रिटर्न दिया है।  

वित्त वर्ष 2023 में यह 24.76 फीसदी रिटर्न के साथ 260 रुपये प्रति किलो तक जा सकती है। जिंक की बात करें, तो इसकी मौजूदा कीमत 272.40 रुपये प्रति किलो है। इसने इस साल अब तक -4.52 फीसदी रिटर्न दिया है। वित्त वर्ष 2023 में यह 28.49 फीसदी रिटर्न के साथ 350 रुपये प्रति किलो तक जा सकती है। 

आईसीआईसीआईडायरेक्ट की रिपोर्ट में कहा गया, ‘आईएमएफ की संशोधित वैश्विक जीडीपी भविष्यवाणी, घटती महंगाई, ब्याज दरों में वृद्धि की रफ्तार कम होने, कमजोर डॉलर और चीन के फिर से खुलने के कारण ग्लोबल कमोडिटी मार्केट में 2023 में मिला जुला रुख देखने को मिल सकता है। साथ ही वैश्विक अर्थव्यवस्था इस समय सुस्ती का सामना कर रही है। इससे कमोडिटी मार्केट में मिला-जुला रुख रहेगा। ऐसी परिस्थिति में सोना सेफ हैवन एसेट के रूप में उभर सकता है। इससे सोने के भाव में तेजी आएगी। वहीं, चांदी में औद्योगिक मांग देखने को मिल रही है।’ 

आईसीआईसीआई डायरेक्ट के अनुसार, रूस-यूक्रेन युद्ध के बावजूद कच्चे तेल के बाजार को 2022 में बहुत नुकसान हुआ है। क्योंकि उत्पादन और मांग लगभग संतुलित थी। 2023 में चीन के फिर से खुलने और ओपेक के तेल उत्पादन में कटौती के साथ वैश्विक तेल की खपत एक बार फिर बढ़ने का अनुमान है। चीन में कोरोना प्रतिबंधों में राहत से उसके कच्चे तेल के आयात में बढ़ोतरी होगी। इससे एमसीएक्स क्रूड ऑयल फ्यूचर्स की कीमत 7850 रुपये प्रति बैरल तक बढ़ने का अनुमान है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *