भारतीय रेलवे के तीन करोड़ यात्रियों का डेटा चोरी, हैकर्स ने चुराए निजी जानकारी 

मुंबई- हाल ही में एम्स के डेटा लीक होने की घटना सामने आई और अब भारतीय रेलवे के यात्रियों का डेटा लीक हो गया है। एम्स में सेंधमारी के बाद भारतीय रेलवे के 3 करोड़ यात्रियों का डेटा हैकर्स ने चुरा लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स ने 3 करोड़ यूजर्स का डेटा चुरा लिया है। हालांकि रेलवे या फिर रेलवे के किसी भी कर्मचारी की ओर से इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।  

रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स ने यात्रियों की निजी जानकारियों चुरा ली है। यात्रियों के नाम, नंबर, उम्र, जेंडर, ईमेल एड्रेस आदि डिटेल चुरा ली है। 27 दिसंबर को हैकर्स ने इसे अंजाम दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स की असली जानकारी अब तक सामने नहीं आई हैं, लेकिन माना जा रहा है कि इसे शैडो हैकर्स ने अंजाम दिया है। यात्रियों की डिटेल को अब हैकर्स डार्क वेब के जरिए बेच रहे हैं।  

हैकर्स का कहना है कि उन्होंने उन 3 करोड़ लोगों की जानकारी हासिल कर ली है, जिन्होंने ट्रेन की टिकट बुक करवाई हैं। हैकर्स ग्रुप का दावा है कि उन्होंने कई सरकारी विभाग के आधिकारिक ईमेल भी चुराए हैं। हैकर्स अब इस डेटा को बेच रहे हैं। हैकर का कहना है कि वो यात्रियों की निजी जानकारी के अलावा कई सरकारी विभागों के ई-मेल आईडी को भी बेचने की तैयारी कर रहे हैं।  

इन डेटा की ऑनलाइन बिक्री की जा रही है। शैडो हैकर यात्रियों की निजी जानकारी 400 डॉलर से लेकर 1500 डॉलर तक रखी है। यानी आपकी जानकारी 35 हजार रुपये से लेकर 1.25 लाख रुपये में ऑनलाइन बेची जा रही है। इस खबर के सामने आने के बाद सिक्‍योरिटी रिसर्चर इसका पता नहीं लगा पाए हैं। अब तक ये जानकारी भी नहीं मिल सकी है कि जिन 3 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक हुआ है, वो आईआरसीटीसी के यूजर हैं या भारतीय रेलवे की वेबसाइट से उनका डेटा लीक हुआ है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *