होम लोन महंगा होने के बाद भी मकानों की बिक्री 8 साल के उच्च स्तर पर 

मुंबई- होम लोन पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बावजूद इस साल सात प्रमुख शहरों में मकानों की बिक्री 8 साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई। इस दौरान कुल 3.65 लाख मकान बिके। इससे पहले 2014 में यह आंकड़ा 3.43 लाख इकाई था। 

संपत्ति सलाहकार कंपनी एनारॉक की मंगलवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, सात प्रमुख शहरों दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर), चेन्नई, कोलकाता, बंगलूरू, हैदराबाद और पुणे में इस साल कुल 3,64,900 मकान बिके। यह आंकड़ा 2021 में बिके 2,36,500 इकाइयों से 54 फीसदी ज्यादा है।  

कोविड महामारी के बाद मांग और उत्पादन लागत में बढ़ोतरी के बीच आवासीय संपत्तियों की कीमतें 4 से 7 फीसदी बढ़ी हैं। एनारॉक समूह के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि प्रमुख चुनौतियों के बावजूद 2022 आवासीय रियल एस्टेट क्षेत्र के लिए शानदार साल रहा। ब्याज दरों और संपत्तियों की लागत में वृद्धि के बावजूद इस साल की चौथी तिमाही यानी अक्तूबर-दिसंबर में कुल 92,160 मकान बिके। 

सात प्रमुख शहरों मे नई आवासीय इकाइयों की आपूर्ति इस साल 51 फीसदी बढ़कर 3,57,600 इकाई पहुंच गई।  2021 में यह आंकड़ा 2,36,700 इकाई था। एमएमआर और हैदराबाद का नई आपूर्ति में सबसे अधिक हिस्सा रहा। सामूहिक रूप से नई आपूर्ति में दोनों की हिस्सेदारी करीब 54 फीसदी रही। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *