अब केवल दो प्रकार के ही चार्जर का होगा उपयोग, सरकार कर रही विचार 

मुंबई- सरकार मोबाइल और पहनने वाले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए दो सामान्य प्रकार के चार्जिंग पोर्ट पेश करने की योजना बना रही है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, फिलहाल सी टाइप चार्जर के लिए ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) मानक लागू हो गया है। ग्राहकों के हित में और ई-कचरे को कम करने के लिए दो प्रकार के सामान्य चार्जिंग पोर्ट को अनिवार्य करने पर सरकार विचार कर रही है। इसमें मोबाइल, स्मार्टफोन और टैबलेट के लिए एक यूएसबी टाइप-सी चार्जर और दूसरा पहनने वाले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए होगा। 

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के सचिव रोहित कुमार ने कहा, इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के साथ पिछली बैठक में स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप आदि के लिए यूएसबी टाइप-सी को चार्जिंग पोर्ट के रूप में अपनाने पर सहमति बनी थी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर पहनने वाले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए सिंगल चार्जिंग पोर्ट पर अध्ययन कर रहा है। एक बार रिपोर्ट जमा हो जाने के बाद उद्योग के साथ इस पर चर्चा की जाएगी। 

ई-कचरे के संबंध में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में एक समान चार्जिंग पोर्ट के संभावित प्रभाव का आकलन और जांच करने के लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय भी अध्ययन कर सकता है। हालांकि, कॉमन चार्जिंग पोर्ट को चरणबद्ध तरीके से ही लागू किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *