मास्क की फिर बढ़ी बिक्री, लेकिन साथ ही 20 फीसदी तक बढ़ गए दाम 

मुंबई- कोरोना की आहट फिर से आने लगी है। तभी तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने सभी को एक बार फिर से मास्क पहनने की अपील की है। कर्नाटक में इनडोर जगहों, जैसे कि स्कूल, कॉलेज और सिनेमा हॉल में मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं इस साल मसूरी, नैनीताल जाने वाले सैलानियों को भी मास्क लगाना होगा। इसके अलावा हॉस्पिटलों में एंट्री के लिए भी मास्क जरूरी कर दिया गया है।  

दिल्ली एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले यात्रियों की औचक कोरोना जांच शुरू हो गई है। वहीं सरकारें एक बार फिर सभी से मास्क लगाने की अपील कर रही हैं। यह सब इसलिए क्योंकि चीन में कोहराम मचाने वाले कोरोना के नए वैरिएंट बीएफ 7 के केस भारत में भी सामने आ चुके हैं। गुजरात में इसके तीन और ओडिशा में एक मरीज मिला है। इसका असर लोगों पर साफ नजर आ रहा है और उनमें थोड़ी-थोड़ी चिंता बढ़ रही है। यही वजह है कि राजधानी के थोक बाजारों में मास्क की मांग में भी अचानक उछाल आ गया है। हालांकि सैनिटाइजर या अन्य सर्जिकल आइटम्स या दवाओं की बिक्री में अभी उछाल नहीं देखने को मिला है। 


पिछले कुछ समय से जिस मास्क की बिक्री ठप हो गई थी। लेकिन, कोरोना पर चर्चा तेज होने के साथ उसकी बिक्री में भी बढ़ोतरी शुरू हो गई है। थोक व्यापारियों के मुताबिक तमाम रिटेलर और ग्राहकों ने मास्क खरीदना शुरू कर दिया है।  

बाजार में मास्क खरीदने वाले ग्राहक एक बार फिर आने लगे हैं और इसकी मांग भी काफी बढ़ गई है। भागीरथ पैलेस के सूत्रों के मुताबिक मास्क की मांग में लगभग 20 से 25 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है। लोगों में घबराहट पैदा होना शुरू हो गई है और इसलिए मास्क की बिक्री में भी तेजी आई है। इसमें भी अभी सर्जिकल मास्क ज्यादा बिक रहे हैं। 

व्यापारी यह भी कहते हैं कि कोरोना से लड़ाई में जो अन्य मददगार आइटम्स होते हैं जैसे कि सैनिटाइजर, थर्मामीटर, ऑक्सिमीटर अथवा दवाएं, उनकी बिक्री में कोई खास अंतर नहीं दिखाई दे रहा है। थोक बाजार में काम करने वाले एक अन्य सूत्र के मुताबिक जब इन चीजों की बिक्री बढ़ रही है, तो अन्य की कम हो गई है, क्योंकि रीटेल व्यापारी भी फूंक-फूंक कर कदम रख रहे हैं।  

सैनिटाइजर की बिक्री में 4 से 5 फीसदी का उछाल आया है जबकि थर्मामीटर और ऑक्सिमीटर की बिक्री में महज 1 से 2 फीसदी का फर्क आया है। मास्क की बिक्री फिर से क्या शुरू हुई, शुरुआती दिनों में ही इसके दामों में भी उछाल नजर आने लगा। थोक व्यापारियों का कहना है कि पहले दिन से ही इसके दाम में 15 से 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो गई है।  

मांग बढ़ने के साथ दाम में लगभग 15 फीसदी तक का उछाल देखने को मिल रहा है। अगर यही हाल रहा, तो संभव है कि आने वाले दिनों में दामों में 30 से 35 फीसदी तक की बढ़ोतरी देखने को मिले। व्यापारियों को मैन्यूफैक्चरर अभी से दाम बढ़ाकर बता रहे हैं। उनकी यह बढ़ोतरी लगभग 25 फीसदी तक है। यानी जो सामान अभी तक 100 रुपये काम मिलता था, वह अब 125 रुपये का मिल रहा है। दामों में लगभग 20 फीसदी का उछाल आ गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *