चीन में 100 गुना पैसा देने पर भी नहीं मिल रहीं हैं कोरोना की दवाइयां  

मुंबई- चीन में कोरोना के केस बढ़ने से दवाओं की कमी हो गई है। अस्पतालों में भीड़ है और सड़कें खाली हैं। लोग सोशल मीडिया पर दवा न मिलने और कीमत से 200% तक महंगी मिलने की शिकायत करने लगे हैं। मशहूर हस्तियां भी अपनों का इलाज नहीं करा पा रही हैं।  

चीन के टीवी एक्टर वांग जिनसोंग ने बुधवार शाम को एक मैसेज में लिखा, ‘कोरोना की वजह से मैंने अपनी मां को खो दिया है। पिता को भी चार दिन से तेज बुखार था। दवाएं नहीं मिल रहीं, मैं बहुत मायूस हूं। यह दिन का वह वक्त है जब मैं अपनी मां के साथ वीडियो चैट करता हूं। अब वह वीडियो कॉल कभी कनेक्ट नहीं होगी।’  

बुखार कम करने के लिए इस्तेमाल होने वाली इबुप्रोफेन की एक गोली के लिए लोगों को 50 युआन तक देने पड़ रहे हैं। एक युआन में मिलने वाला इंजेक्शन 100 गुना ज्यादा कीमत पर मिल रहा है। मेडिकल स्टाफ यहां दिन-रात मरीजों को देख रहा है। हॉस्पिटल में भीड़ बढ़ने से स्टाफ पर भी दबाव है।  

लंदन की ग्लोबल हेल्थ इंटेलिजेंस कंपनी एयरफिनिटी के मुताबिक चीन में हर रोज कोरोना के 10 लाख केस मिल रहे हैं। सोर्सेज के मुताबिक हुबेई, चेंदू और बीजिंग के हॉस्पिटल मरीजों से भर गए हैं। लोग लंबी कतारों में खड़े हैं। कई शहरों में दवाओं की कमी हो चुकी है। बुखार में काम आने वाली इबुप्रोफेन और लियानहुआ क्विंगवेन जैसी दवाएं हैं ही नहीं। कई हॉस्पिटल महंगी दवाएं नहीं रखते, इससे लोगों को इलाज नहीं मिल रहा।  

एक युआन में मिलने वाले इंट्रामस्क्युलर इंजेक्शन के लिए लोग 10 से 100 गुना तक ज्यादा कीमत चुका रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें वक्त पर इंजेक्शन नहीं मिल रहा है। महंगी दवाओं की वजह से कई लोग इलाज नहीं करवा पा रहे हैं। चीन सरकार ने एयर ट्रैवल पर अब तक कोई गाइडलाइंस जारी नहीं की है, इसलिए लोग दूसरे देशों में घूमने जा रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ सकता है।  

कोरोना से हालात बिगड़ने के बावजूद चीन सरकार ने एयर ट्रैवल पर कोई गाइडलाइंस जारी नहीं की हैं। कोई पाबंदी न होने से चीन के लोग जापान, ताइवान, थाईलैंड, यूरोपीय देश और अमेरिका जा रहे हैं। 2019 में कोरोना की शुरुआत में भी यही हुआ था। लोग चीन से दूसरे देशों में गए और वहां संक्रमण के मामले मिलने लगे। एयर ट्रैवल पर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी गाइडलाइंस जारी नहीं की है। WHO इस बार सिर्फ लोगों से अपील कर रहा है कि वे ट्रैवल करने से बचें।  

एक्टर वांग जिनसॉन्ग सामान्य लोगों के मुकाबले बेहतर स्थिति में होने के बावजूद अपनी मां को दवाएं नहीं दिला पाए। कई जगह जरूरी दवाओं की कीमत 200% से ज्यादा बढ़ गई है। लोग अपने मरीज का बुखार कम करने के लिए इबुप्रोफेन की एक गोली देने के लिए 50 युआन तक दे रहे हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *