राजधानी एक्सप्रेस के खाने में मिला कॉकरोच, यात्रियों ने मचाया बवाल 

मुंबई- दो दिन पहले ही देश के अति प्रतिष्ठत 22222, CSMT राजधानी एक्सप्रेस में जो कुछ हुआ, उसे शायद आप भी बर्दास्त नहीं करेंगे। एक यात्री ने अपनी ढाई साल की बच्ची के लिए आमलेट मंगवाया। उस आमलेट में एक कॉकरोच निकला। उस पैसेंजर ने इसका फोटो खींचा और प्रधानमंत्री कार्यालय, केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल, गोयल के कार्यालय और रेल मंत्रालय को टैग करते हुए ट्वीट कर दिया। ट्वीट किए हुए 24 घंटे बीत गए हैं, लेकिन अभी तक इस पर रेलवे की कार्रवाई का कोई अपडेट नहीं आया है। 

योगेश मोरे नाम का एक यात्री 16 दिसंबर 2022 को दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन से ट्रेन संख्या 22222, सीएसएमटी राजधानी एक्सप्रेस से मुंबई की तरफ रवाना हुआ। अगली सुबह नाश्ते के समय उन्होंने अपनी ढाई साल की बच्ची के लिए अलग से आमलेट मंगवाया। इस आमलेट के बीच उन्हें मिला एक कॉकरोच। वह हैरान रह गया। फिर उस यात्री ने इसका फोटो खींचा और ट्वीट कर दिया।  

वह पूछते हैं ‘अगर (कॉकरोच वाला आमलेट खाने से) कुछ हुआ तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।’ इस पर कुछ ही देर में रेल मंत्रालय के ट्वीटर हैंडर रेल मदद से जवाब आया “असुविधा के लिए खेद है। महोदय, कृपया सीधे संदेश (DM) में पीएनआर नंबर और मोबाइल नंबर साझा करें।” 

रेलवे के इस ठंडे रिस्पांस पर कुछ यात्री भड़क गए। एक यात्री ने रेलवे की आलोचना करते हुए कहा,” कैसी असुविधा? यदि स्वच्छता के मानक नहीं बनाए जा सकते हैं, तो इसकी भरपाई मुआवजा के तौर पर की जानी चाहिए।  

एक यात्री ने कहा कि हर ट्रेन में खाने की हालत खराब है। इस देश को कोई एक भी व्यक्ति नहीं कह सकता है कि ट्रेन का खाना बढ़िया है। सरकार इस पर एक्शन क्यों नहीं लेती। वह कहते हैं कि हम हर चुनाव में बीजेपी को वोट देते हैं इसलिए ट्रेन में खाना जैसी मूल सुविधाओं के लिए तो आपको जवाबदेह होना ही चाहिए। 

एक यात्री ने लिखा कि इंडियन रेलवे में खाने की खराब गुणवत्ता इसके कैटरिंग सर्विस की प्रेस्टिज को रिफ्लेक्ट करता है। इंडियन रेलवे कैटरिंग सर्विस के तीन पिलर्स हैं- बैड टेस्ट, पूअर हाइजिन और गंदे किचन स्टाफ। लोग इससे घृणा करते हैं लेकिन किसी को फर्क नहीं पड़ता है। वह सवाल पूछते हैं.. क्या यही नया इंडिया है? 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *