रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने इस साल निवेशकों को दिया दस फीसदी का फायदा 

मुंबई मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली देश की सबसे वैल्यूएबल कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इस साल अपने निवेशकों को दस फीसदी रिटर्न दिया है। सरकार ने फ्यूल के निर्यात पर अतिरिक्त सेस लगाया है जिससे कंपनी की कमाई प्रभावित हुई है। लेकिन इसके बावजूद कंपनी के शेयरों में इस साल 10 फीसदी तेजी आई है।  

इस कंपनी के मार्केट कैप में इस साल 1.7 लाख करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है और यह 17,69,240 करोड़ रुपये पहुंच गया है। लेकिन ग्रुप की दूसरी लिस्टेड कंपनियों के निवेशक इतने भाग्यशाली नहीं रहे। इनमें से अधिकांश के शेयरों में गिरावट आई है।  

रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में इस साल 10 फीसदी की तेजी आई है। पिछले साल इसका मार्केट कैप 16,02289 करोड़ रुपये था जो अब बढ़कर 17,69,240 करोड़ रुपये हो गया है। 14 दिसंबर, 2022 को कंपनी के शेयर का बंद भाव 2614.90 रुपये था। इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 2,855 रुपये और न्यूनतम स्तर 2,181 रुपये है। रिलायंस इंडस्ट्रीज मार्केट कैप के हिसाब से देश की सबसे बड़ी कंपनी है। 

रिलायंस ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा केवल रिलायंस इंडस्ट्रियल इन्फ्रास्ट्रक्चर के शेयरों में तेजी आई है। इस शेयर ने इस साल अपने निवेशकों को 20 फीसदी रिटर्न दिया है। यानी रिलायंस ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों में से इस कंपनी का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा है। इसका मार्केट कैप भी बढ़कर 1,552 करोड़ रुपये पहुंच गया जो पिछले साल 1,297 करोड़ रुपये था। अभी इस शेयर की कीमत 1027.50 रुपये है। इसका 52 हफ्ते का उच्चतम स्तर 1257.70 रुपये है। 

ग्रुप की अन्य लिस्टेड कंपनियों ने इस साल अपने निवेशकों को निगेटिव रिटर्न दिया है। नेटवर्क 18 के शेयरों में इस साल 16 फीसदी गिरावट आई है। जस्ट डायल के शेयरों में 26 फीसदी, हैथवे केबल में 12 फीसदी, डेन नेटवर्क में 10 फीसदी और हैथवे भवानी केबल के शेयरों में 39 फीसदी गिरावट आई है। शेयरों में गिरावट के साथ इन कंपनियों के मार्केट कैप में भी गिरावट आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *