सूचीबद्ध कंपनियों ने पिछले वित्त वर्ष में एक करोड़ लोगों को दी नौकरी 

मुंबई- पिछले वित्त वर्ष यानी 2021-22 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियों ने एक करोड़ लोगों को नौकरी दी है। प्रति कर्मचारी सालाना औसत वेतन सात लाख रुपये रहा है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह सूचीबद्ध, गैर-सूचीबद्ध, बड़े और छोटे उद्यमों द्वारा सभी वेतनभोगी कर्मचारियों को दिए जाने वाले औसत वेतन लगभग 3,00,000 रुपये से दोगुना ज्यादा है। इसने 3,300 सूचीबद्ध कंपनियों के एक सर्वेक्षण में यह बात कही है। 

सीएमआईई के सीपीएचएस के अनुसार, 2019-20 में 8.7 करोड़ वेतनभोगी थे जो 2021-22 में आंशिक रूप से घटकर 8.1 करोड़ हो गए। कोरोमा के कारण 2020-21 में इनकी संख्या घटकर 7.4 करोड़ हो गई थी। इसके विपरीत, सूचीबद्ध कंपनियों में कोरोना के दौरान रोजगार में कोई गिरावट नहीं आई थी। 2021-22 में सूचीबद्ध कंपनियों ने 9.3 फीसदी ज्यादा रोजगार दिया। इसके ठीक उलट सभी वेतनभोगी कर्मचारियों के रोजगार में 8.6% की कमी आई थी। 

सीएमआईई के अनुसार, 2021-22 में भारत में सभी वेतनभोगी कर्मचारियों में से केवल 6% की वार्षिक मजदूरी 600,000 रुपये से अधिक थी। इसके अलावा, केवल 35% की मजदूरी दर 300,000 रुपये से अधिक थी। इसका मतलब यह है कि भारत में कुल वेतनभोगी कर्मचारियों में से लगभग दो-तिहाई की मजदूरी सूचीबद्ध कंपनियों द्वारा दी जाने वाली मजदूरी दर से कम है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *