ज्यादा देशों के साथ रुपये में कारोबार का पता लगाएं बैंक और कारोबारी संगठन

मुंबई- सरकार ने कारोबारी संगठनों और बैंकों से रुपये में कारोबार के लिए और देशों के साथ ऐसे अवसरों का पता लगाने के लिए कहा है। भारतीय बैंकों ने पहले ही रूस, मॉरीशस और श्रीलंका के बैंकों के साथ वोस्ट्रो रुपया खाते खोले हैं। इसके जरिये ही रुपये में कारोबार हो रहा है। एसबीआई मॉरीशस लिमिटेड और पीपुल्स बैंक ऑफ श्रीलंका ने भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के साथ एक एसवीआरए खोला है। इसके अलावा, बैंक ऑफ सीलोन ने चेन्नई में अपनी सहायक कंपनी में एक खाता खोला है। 

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने रोस बैंक में विशेष रुपया खाता खोला है जबकि इंडियन बैंक ने कोलंबो के एनडीबी बैंक और सीलन बैंक सहित तीन श्रीलंकाई बैंकों के ऐसे खाते खोले हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) से अनुमोदन के बाद रूस के दो और श्रीलंका के एक सहित 11 बैंकों द्वारा कुल 18 ऐसे विशेष रुपये खाते खोले गए हैं। 

सूत्रों ने कहा कि हाल ही में शेयरधारकों के साथ वित्त मंत्रालय ने समीक्षा बैठक की थी। इसमें वित्त मंत्रालय ने एसवीआरए के माध्यम से द्विपक्षीय व्यापार का विस्तार करने और स्वदेशी भुगतान मोड का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने की योजनाओं के रूप में और ज्यादा देशों का पता लगाने को कहा है। रूस-यूक्रेन युद्ध और पश्चिम द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के बाद भारत रुपये के व्यापार को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। 

भारतीय रिजर्व बैंक ने नई व्यवस्था को लोकप्रिय बनाने में मदद करने के लिए विशेष वोस्ट्रो खातों को भारत सरकार की प्रतिभूतियों में अधिशेष शेष राशि का निवेश करने की अनुमति दी है। इस तंत्र के माध्यम से आयात करने वाले भारतीय आयातक रुपये में भुगतान कर सकेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *