फोर्ब्स की 100 शक्तिशाली महिलाओं में निर्मला सीतारमण 36वें नंबर पर 

मुंबई- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, बायोकॉन की सीईओ किरण मजूमदार-शॉ और नायका की संस्थापक फाल्गुनी नायर उन छह भारतीयों में शामिल हैं जिन्होंने फोर्ब्स की दुनिया की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में जगह बनाई है। निर्मला सीतारमण सूची में 36वें नंबर पर हैं। वे लगातार चौथी बार सूची में जगह बनाई हैं। 2021 में 63 वर्षीय मंत्री 37 वें स्थान पर थीं। 2020 में 41वें और 2019 में 34वें स्थान पर थीं। 

सूची में शामिल होने वाले अन्य भारतीयों में एचसीएलटेक की चेयरपर्सन रोशनी नादर मल्होत्रा 53वें रैंक पर हैं। सेबी की चेयरपर्सन माधबी पुरी बुच 54वें और स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया की चेयरपर्सन सोमा मोंडल 67वें रैंक पर हैं। मल्होत्रा, मजूमदार-शॉ और नायर ने पिछले साल भी इस सूची में जगह बनाई थीं। 

फोर्ब्स द्वारा मंगलवार को जारी सूची के अनुसार इस साल मजूमदार-शॉ 72वें स्थान पर हैं, जबकि नायर 89वें स्थान पर हैं। सूची में 39 सीईओ शामिल हैं। फोर्ब्स की सूची में कहा गया है कि 59 वर्षीय फाल्गुनी नायर ने दो दशकों तक एक निवेश बैंकर के रूप में काम किया। 2012 में, उन्होंने खुद के लिए काम करने का फैसला किया। नायका को शुरू करने के लिए उन्होंने अपनी बचत का निवेश किया। 2021 में आईपीओ लाने के बाद वे अरबपतियों की सूची में आ गईं। 

फोर्ब्स वेबसाइट के मुताबिक, 41 वर्षीय मल्होत्रा 12 अरब डॉलर की टेक्नोलॉजी कंपनी के सभी रणनीतिक फैसलों के लिए जिम्मेदार हैं। 1976 में उनके पिता शिव नादर द्वारा स्थापित एचसीएल को वो संभाल रही हैं। इसी साल एक मार्च को 56 वर्षीय बुच सेबी की पहली महिला चेयरपर्सन बनीं हैं। 

69 वर्षीय मजूमदार-शॉ को सूची में भारत की सबसे अमीर स्व-निर्मित महिलाओं में से एक बताया गया है। उन्होंने 1978 में राजस्व के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी सूचीबद्ध बायोफार्मास्युटिकल फर्म की स्थापना की। सूची चार मुख्य पैमाने पर है। इसमें पैसा, मीडिया, प्रभाव और प्रभाव क्षेत्र को शामिल किया गया है। पहले स्थान पर बेल्जियम की राजनीतिज्ञ उर्सुला लियेन हैं। यूरोपीय केंद्रीय बैंक की अध्यक्ष क्रिस्टीन लेगार्ड दूसरे स्थान हैं। अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस सूची में तीसरे स्थान पर हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *