अगले साल भी मिलेगा आईपीओ में निवेश का मौका, बड़े आईपीओ की तैयारी

मुंबई- शेयर बाजार में इस साल यानी 2022 में कई कंपनियां अपने आईपीओ लेकर आई हैं। इनमें से कुछ आईपीओ ने निवेशकों को निराश किया तो कई आईपीओ ऐसे भी रहे जिन्होंने निवेशकों को मालामाल कर दिया। अगर आप भी आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं और अभी तक नहीं कर पाए हैं तो निराश न हों।  

अब आपको अगले साल यानी 2023 में ऐसे कई मौके मिलने वाले हैं। साल 2023 में कई बड़ी कंपनियां अपने आईपीओ बाजार में लॉन्च करने की योजना बना रही हैं। ऐसे में आपके पास कमाई करने का शानदार मौका रहेगा। अगर आप आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं तो अभी से रुपयों का बंदोबस्त कर लें। आइए आपको बताते हैं अगले साल कौन-कौन सी कंपनियां अपना आईपीओ ला सकती हैं। 

इस लिस्ट में पहले नंबर पर है ओरावेल स्टेज, जिसे ओयो के नाम से भी जाना जाता है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, ओयो साल 2023 की शुरुआत में ही अपना आईपीओ लाने की तैयारियों में जुटी हुई है। अभी कंपनी के पास भारत सहित विदेशों में 157,000 से अधिक होटल स्टोरफ्रंट्स का सबसे बड़ा फुटप्रिंट है। कंपनी 35 देशों में अपने भागीदारों और ग्राहकों को 40 से अधिक उत्पादों और सेवाओं की पेशकश करती है।  

कंपनी ने साल 2021 के अक्टूबर में अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) दायर किया था और 2022 में अपना IPO लॉन्च करने की योजना बनाई थी। हालांकि, बाद में ओयो ने अपने आईपीओ को स्थगित कर दिया था। अब कंपनी अगले साल फिर से अपना आईपीओ लॉन्च करने की तैयारी कर रही है। 

ऑनलाइन एजुकेशन प्रोवाइडर और देश की सबसे मूल्यवान स्टार्ट अप कंपनी बायजूस भी अपना आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, कंपनी में अभी 50 मिलियन से ज्यादा रजिस्टर्ड छात्र हैं। पिछले पांच वर्षों में बायजूस ने तेजी से तरक्की की है। कंपनी का पिछले तीन वर्षों में कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट 21.2 फीसदी रहा है। वहीं वित्तीय वर्ष 2022 में कंपनी ने ₹100 बिलियन का ग्रॉस रेवेन्यु हासिल किया है। बायजूस साल 2023 में अपना आईपीओ लॉन्च करने की योजना बना रहा है। बायजूस के आईपीओ का इंतजार काफी लोग कर रहे हैं। ये आईपीओ साल 2023 के बड़े आईपीओ में से एक होगा। 

आने वाले आईपीओ की लिस्ट में अगला नंबर स्विगी का है। स्विगी एक ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग और डिलीवरी प्लेटफॉर्म है। साल 2014 में बैंगलोर से इसकी शुरुआत हुई थी। मौजूदा समय में यह भारत में 500 से ज्यादा शहरों में काम कर रही है। कंपनी फूड डिलीवरी के अलावा स्विगी इंस्टामार्ट और जिनी के जरिए किराने का सामान और पैकेज डिलीवर करती है।  

अभी कंपनी की एक लाख 50 हजार से ज्यादा रेस्तरां के साथ साझेदारी है। इसी के साथ 260 हजार से अधिक डिलीवरी करने वालों का एक बड़ा नेटवर्क है। पिछले तीन वर्षों में, कंपनी का राजस्व 25.4% की सीएजीआर से बढ़ा है। स्विगी की साल 2023 में आईपीओ लाने की योजना है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *