इस शेयर ने निवेशकों के एक लाख रुपये को बना दिया 36 लाख रुपये 

मुंबई- निवशकों को मालामाल करने वाला शेयर विप्रो का है। इस स्टॉक ने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है। इस आईटी प्रमुख स्टॉक ने पिछले 14 वर्षों में अपने लांगटर्म निवेशक को तीन बार बोनस शेयर दिए हैं जो इस समय ₹1 लाख से ₹36 लाख से अधिक हो गए हैं। मार्च 2009 में, विप्रो के शेयर लगभग ₹50 के स्तर पर थे। वहीं आज विप्रो के शेयर की कीमत ₹412.35 प्रति शेयर है।  

हालांकि, लंबी अवधि के निवेशक के लिए रिटर्न शेयर की कीमतों में बढ़ोतरी से कहीं ज्यादा है। पिछले 14 वर्षों में, विप्रो लिमिटेड ने तीन अवसरों – जून 2010, जून 2017 और मार्च 2019 में बोनस शेयरों की घोषणा की है। जून 2010 में, विप्रो लिमिटेड ने 2:3 अनुपात में बोनस शेयर जारी करने की घोषणा की थी। जून 2017 में आईटी कंपनी ने 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर की घोषणा की, जबकि मार्च 2019 में 1:3 के अनुपात में बोनस शेयर जारी करने की घोषणा की थी। 

अगर लंबी अवधि के निवेशक ने 14 साल पहले इस आईटी स्टॉक में एक लाख रुपये का निवेश किया होता तो उसे मार्च 2009 में ₹50 प्रति शेयर पर विप्रो का एक शेयर मिला होगा। इसका मतलब है कि लगभग 20 हजार विप्रो शेयर हो सकते हैं। मार्च 2009 में ₹1 लाख का भुगतान करके खरीदा गया है। यह 20,000 विप्रो शेयर 2:3 अनुपात में बोनस शेयर जारी करने के बाद 3,332 विप्रो शेयरों में बदल गए होंगे। इसके बाद में, ये 3,332 विप्रो शेयर जून 2017 में 1:1 अनुपात में बोनस शेयर जारी करने के बाद 6,664 विप्रो शेयरों में बदल गए होंगे।  

मार्च 2019 में, विप्रो ने फिर से 1:3 अनुपात में बोनस शेयरों की घोषणा की तो, 6,664 विप्रो के शेयर आगे 8,885 शेयरों में बदल गए होंगे। इसका मतलब है कि मार्च 2009 में विप्रो में ₹1 लाख का निवेश करने वाले निवेशक की हिस्सेदारी 8,885 होती। ऐसे में अगर देखें तो विप्रो के शेयर की कीमत आज ₹412.35 है। इस तरह से कंपनी की ओर से दिए गए बोनस शेयरों के बाद 14 वर्षों में एक का निवेश करीब 36.63 लाख से ज्यादा का हो गया होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *