एअर इंडिया-विस्तारा एक में मिलेंगी, एसआईए करेगी 2,059 करोड़ का निवेश 

मुंबई- एअर इंडिया और विस्तारा एयरलाइन्स का मर्जर होने वाला है। नई फर्म में टाटा की 74.9% और सिंगापुर एयरलाइन (SIA) की 25.1% स्टेक होगी। नई फर्म का नाम AI-विस्तारा-AI एक्सप्रेस-एयरएशिया इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (AAIPL) होगा। टाटा संस और SIA ने मंगलवार को इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि 2024 तक इस प्रोसेस को पूरा करने का लक्ष्य रखा है। 

एअर इंडिया (एअर इंडिया एक्सप्रेस और एयर एशिया इंडिया सहित) और विस्तारा के पास कुल 218 वाइडबॉडी और नैरोबॉडी एयरक्राफ्ट हैं, जो 38 इंटरनेशनल और 52 डोमेस्टिक डेस्टिनेशन पर सर्विस देते हैं। विस्तारा, टाटा संस और सिंगापुर एयरलाइंस लिमिटेड के बीच 51:49 का जॉइंट वेंचर है। 

इसे 2013 में स्थापित किया गया था और यह मध्य पूर्व, एशिया और यूरोप में इंटरनेशनल ऑपरेशन्स के साथ भारत का लीडिंग फुल सर्विस कैरियर है। मर्जर के बाद, एयर इंडिया फुल-सर्विस और लो-कॉस्ट वाली पैसेंजर सर्विस दोनों को ऑपरेट करने वाला एकमात्र भारतीय एयरलाइन ग्रुप होगा। 

टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा, ‘विस्तारा और एयर इंडिया का विलय एअर इंडिया को वर्ल्ड क्लास एयरलाइन बनाने की हमारी यात्रा में महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। हम हर ग्राहक को शानदार अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से एअर इंडिया को बदल रहे हैं। परिवर्तन के हिस्से के रूप में, एअर इंडिया अपने नेटवर्क और बेड़े दोनों को बढ़ा रहा है।’ 

चंद्रशेखरन ने कहा, ‘हम एक मजबूत एयर इंडिया बनाने के अवसर से उत्साहित हैं जो घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर फुल सर्विस और लो-कॉस्ट-सर्विस दोनों प्रदान करेगा। हम सिंगापुर एयरलाइंस को उनकी निरंतर साझेदारी के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं।’ 

भारत का एविएशन मार्केट वर्तमान में दुनिया का तीसरा बड़ा बाजार है। अगले 10 साल में इसके दोगुना होने की उम्मीद है। नई AI सबसे बड़ी इंटरनेशनल और दूसरी सबसे बड़ी घरेलू एयरलाइन (पैसेंजर के मामले में) होगी। अगले 5 साल में फ्लीट साइज को तिगुना करने का प्लान है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *