रामदेव ने कहा, महिलाएं मेरी तरह कपड़ा नहीं पहनें तो और अच्छी लगती हैं 

मुंबई- योग गुरु रामदेव पुणे में एक योग शिविर में शामिल हुए। यहां उन्होंने कहा कि महिलाएं साड़ी, सलवार और सूट में भी अच्छी लगती हैं, मेरी तरह कुछ ना भी पहने तो भी अच्छी लगती हैं। इस दौरान रामदेव के साथ मंच पर महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता भी मौजूद थीं। 

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि इस बयान से सभी महिलाएं आहत हुई हैं, बाबा रामदेव को इस बयान पर देशवासियों से माफी मांगनी चाहिए। वहीं, उद्धव गुट के शिवसेना नेता संजय राउत ने पूछा कि अमृता फडणवीस ने बाबा की टिप्पणियों का विरोध क्यों नहीं किया। 

यह पहले मौका नहीं है जब बाबा रामदेव विवादों में घिरे हैं। इससे पहले कोरोना के लिए बनाई गई अपनी दवा की लॉन्चिंग के दौरान भी रामदेव ने डॉक्टर्स को हत्यारा कहा था। इसके बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने रामदेव को एक लीगल नोटिस भेजा था और उन पर मुकदमा चलाए जाने की बात कही थी। 

उन्होंने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा था ‘कार्यक्रम में मौजूद महिलाएं अपने झोले में साड़ियां लेकर आई थीं. सुबह योग कार्यक्रम शुरू हो गया. इसके बाद दोपहर वाला शुरू हो गया। कोई बात नहीं, घर जाकर पहन लेना.’ उन्होंने आगे कहा, ‘आप साड़ी पहनकर भी अच्छी लगती हैं, सलवार सूट में भी अच्छी लगती हैं और मेरी तरह से कोई न भी पहनें तो भी अच्छी लगती हैं. पहले बच्चों को कौन कपड़े पहनाता था। आज बच्चों को कपड़ों की 5-5 लेयर पहना दी जाती हैं। 

तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा ने भी बाबा रामदेव की टिप्पणी की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट किया, “अब मुझे पता चला कि पतंजलि बाबा महिलाओं के कपड़ों में रामलीला मैदान से क्यों भागे। उनका कहना है कि उन्हें साड़ी, सलवार पसंद है और…स्पष्ट रूप से उनके मस्तिष्क में खिंचाव आ गया है, जो उनके विचारों को इतना एकतरफा बना देता है।” 2012 में योग गुरु को सफेद सलवार कमीज में पुलिस को चकमा देने की कोशिश करते हुए पकड़ा गया था। 

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले शिवसेना गुट ने सवाल किया मंच पर मौजूद उप मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्‍नी ने रामदेव की टिप्पणियों का विरोध क्यों नहीं किया। संजय राउत ने कहा, “जब राज्यपाल शिवाजी पर अपमानजनक टिप्पणी करते हैं, जब कर्नाटक के मुख्यमंत्री महाराष्ट्र के गांवों को कर्नाटक ले जाने की धमकी देते हैं और अब जब भाजपा प्रचारक रामदेव महिलाओं का अपमान करते हैं, तो सरकार चुप रहती है. क्या सरकार ने अपनी जुबान दिल्ली के पास गिरवी रख दी है?”  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *