कोल इंडिया, आरसीएफ व हिंदुस्तान जिंक में बिकेगा 10% तक हिस्सा 

मुंबई- शेयर बाजार की तेजी का फायदा उठाने और वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही में राजस्व बढ़ाने के लिए सरकार कई कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है। सरकार कोल इंडिया, हिंदुस्तान जिंक और राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स (आरसीएफ) में 5 से 10% हिस्सा बेचना चाह रही है।  

ऑफर-फॉर-सेल (ओएफएस) के तहत कुल पांच कंपनियों में हिस्सा बिकेगा। इसमें एक रेल मंत्रालय की कंपनी होगी। इन कंपनियों की मौजूदा कीमतों पर हिस्सा बेचने से सरकार को लगभग 165 अरब रुपये मिल सकते हैं। इस समय शेयर बाजार अपने रिकॉर्ड स्तर पर है। इससे सरकार को ज्यादा पैसा मिल सकता है। इस जुटाई गई रकम से सरकार को सब्सिडी बिल को रकम देने में मदद मिलेगी, जो यूक्रेन में युद्ध के कारण आंशिक रूप से बढ़ी है।  

बजट में सरकार ने कंपनियों में हिस्सा बेचकर 65,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था। अभी तक इस लक्ष्या का केवल एक तिहाई ही पैसा जुट पाया है। इसमें भी एलआईसी के आईपीओ से 21,000 करोड़ रुपये जुटाए गए थे। सरकार इसके लिए रोड शो की तैयारी कर रही है ताकि निवेशकों को तैयार किया जा सके। साथ ही उनकी दिलचस्पी का भी पता लगाया जा सके। कोल इंडिया का शेयर एक साल में 139 से 263 रुपये और आरसीएफ का शेयर 66 रुपये से 120 रुपये पर पहुंच गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *