महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने लांच किया स्माल कैप एनएफओ 

मुंबई- महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने उन निवेशकों के लिए स्मॉल कैप फंड लॉन्च किया जो लंबी अवधि के लिए संपत्ति बनाना चाहते हैं। महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने स्मॉल कैप फंड लॉन्च किया है जो एक ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम है और जिसका उद्देश्य मुख्य रूप से स्मॉल कैप शेयरों में निवेश करना है। एसेट एलोकेशन का न्यूनतम 65% स्मॉल कैप कंपनियों के लिए होगा। यह स्कीम 21 नवंबर 2022 को खुल गई है जो 5 दिसंबर 2022 को बंद होगी

भारत ने अतीत में कुछ महत्वपूर्ण आर्थिक सुधारों का रास्ता अपनाने के बाद अब भविष्य में विकास की संभावनाओं के दरवाजे खोले हैं और यही इसकी उभरती हुई भारतीय उद्यमिता को भुनाने का सही अवसर है। भारत का नया डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर भी काफी आशावादी दिखता है। भारत में स्मॉल कैप कंपनियों के विकास के लिए कई फ़ैक्टर्स में कई तो बहुत उम्मीद भरे दिखाई देते हैं।

स्मॉल कैप म्युचुअल फंड लंबी अवधि में उच्च रिटर्न देने की प्रवृत्ति रखते हैं, क्योंकि वे उन कंपनियों को एक्सपोजर प्रदान करते हैं जो अपने अपने उद्योगों में संभावित मार्केट लीडर हैं। जिनमें वे काम करते हैं और वे जैसे जैसे बड़े होते हैं उनमें भविष्य में मिडकैप बनने की संभावना होती है। उनकए बारे में लोगों को कम जानकारी होती है और आम तौर पर कम स्वामित्व वाले होते हैं। इस प्रकार वे उचित मूल्यांकन पर स्टॉक चुनने का अवसर प्रदान करते हैं।

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ एंथोनी हेरेडिया ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था आने वाले दशक में दुनिया की अग्रणी अर्थव्यवस्थाओं में से एक होने के लिए अच्छी तरह से तैयार है। इसमें समय के साथ बहुत बड़ी बनने की संभावना है और यह उपयोग करने वाली कई छोटी कंपनियों के साथ साथ सही सेक्टर और बिजनेस में अभूतपूर्व अवसर प्रदान करेगा।  

स्मॉल कैप फंड लंबी अवधि के निवेशकों के लिए एक आदर्श विकल्प होगा जो इस बदलाव का लाभ उठाना चाहते हैं और उन्हें निवेशक पोर्टफोलियो का मुख्य हिस्सा बनना चाहिए। हमारे विविध फंड रेंज में हमारे पिछले ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए, हमें लगता है कि इस उत्पाद को बाजार में लाने का यह सही समय है। यह हमारे निवेशकों को उनकी लंबी अवधि के धन सृजन आकांक्षाओं को पूरा करने में मदद करता है।

फंड में निवेश का उद्देश्य स्मॉल कैप कंपनियों के इक्विटी और इक्विटी से संबंधित सेक्यूरिटीज के डाइवर्सीफाइड पोर्टफोलियो में निवेश करके लॉंग टर्म कैपिटल एप्रीसिएशन उत्पन्न करना है। भारतीय स्मॉल कैप कंपनियों की एक बड़ी रेंज ऑफर करते हैं जो भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ भाग लेने और बढ़ने की संभावना रखते हैं क्योंकि भारत साइज़ के मामले में 7वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था से तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है।  

मौजूद अर्थव्यवस्था भविष्य में मिड कैप कंपनियों के रूप में विकसित होने के लिए कई समाल कैप कंपनियों के लिए अवसर प्रदान करती है। एक सेगमेंट के रूप में स्मॉल कैप भी सेक्टर एलोकेशन में बड़े बड़े चॉइस प्रदान करता है। वैल्यूएशन के लिहाज से स्मॉल कैप्स वर्तमान में उन निवेशकों के लिए एक अच्छा अवसर प्रदान करते हैं जो एक लंबी अवधि के इक्विटी पोर्टफोलियो का निर्माण करना चाहते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *