एनएसई की 500 कंपनियों में निदेशक पद पर महिलाओं का हिस्सा 18 फीसदी

मुंबई- शेयर बाजार में सूचीबद्ध शीर्ष कंपनियों में महिला निदेशकों की नियुक्ति की रफ्तार धीमी हो गई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, मार्च, एनएसई की सूचीबद्ध 500 कंपनियों में केवल 18 फीसदी महिला ही निदेशक के पद पर हैं।

कॉरपोरेट इंडिया नाम की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक स्तर पर इस स्थिति में सुधार तो हो रहा है और कॉरपोरेट के बोर्ड में महिलाओं का हिस्सा करीब 24 फीसदी है। भारत में भी पिछले 8 साल में इस नियुक्ति में तेजी आई है। 2014 में कंपनियों में महिलाओं का हिस्सा केवल 6 फीसदी था जो अब 17.6 फीसदी हो गया है।

रिपोर्ट का कहना है कंपनियों में महिलाओं की नियुक्ति तो बढ़ रही है पर नई नियुक्ति में गिरावट आई है। यह पिछले तीन साल में केवल एक फीसदी ही बढ़ी है। इस दर के आधार पर 30 फीसदी महिलाओं की हिस्सेदारी के लिए 2058 तक इंतजार करना होगा। इस साल मार्च अंत तक निफ्टी-500 कंपनियों में कुल 4,694 निदेशकों में 827 महिला निदेशक थीं।

रिपोर्ट के अनुसार, यूरोप में महिला निदेशकों की संख्या 34.4 फीसदी जबकि उत्तरी अमेरिका की कंपनियों में यह 28.6 फीसदी है। इस मामले में 44.5 फीसदी के साथ फ्रांस शीर्ष पर बना हुआ है। 31 मार्च, 2022 तक निफ्टी-500 कंपनियों में से 48.6 कंपनियों में दो या इससे ज्यादा महिलाएं निदेशक पद पर थीं। 31 मार्च, 2020 में यह 44 फीसदी और 2021 में 45 फीसदी था।

159 कंपनियों में महिलाओं की हिस्सेदारी 20 फीसदी से ज्यादा है जो कि मार्च, 2021 के अंत तक 146 थी। महिला निदेशकों की औसत उम्र 58.7 वर्ष है दो 2020 में 56 साल थी। इसी दौरान पुरुष निदेशकों की उम्र 62.3 और 61 साल थी। निफ्टी-500 कंपनी में से 22 कंपनियों में महिलाएं चेयरपर्सन के रूप में हैं जबकि 25 में सीईओ और 62 में कार्यकारी निदेशक के पद पर हैं। रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी कंपनियां इस मामले में काफी पीछे हैं। कई कंपनियों के बोर्ड में तो महिला ही नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *