रसना समूह के संस्थापक रहे पिरोजशाह खंबाटा का 85 साल में हुआ निधन 

मुंबई- रसना ग्रुप के फाउंडर आरिज पिरोजशाह खंबाटा का 85 साल की उम्र में निधन हो गया। रसना ग्रुप ने बताया कि 19 नवंबर को उनका निधन हुआ है। रसना को 80 और 90 के दशक में रसना को पॉपुलर बनाने वाले खंबाटा ही थे। रसना अब 60 देशों में मिलता है। 

आरिज खंबाटा बेनेवलेंट ट्रस्ट और रसना फाउंडेशन के चेयरमैन थे। वह WAPIZ (पारसी ईरानी जरथोस्टिस का वर्ल्ड अलवायंस) के पूर्व चेयरमैन और अहमदाबाद पारसी पंचायत के पूर्व प्रेसिंडेंट होने के साथ, भारत के पारसी जोरास्ट्रियन अंजुमन्स फेडरेशन के वाइस प्रेसिडेंट भी थे। रसना ग्रुप के बयान में कहा गया है कि ‘खंबाटा ने इंडियन इंडस्ट्री, बिजनेस और सोशल डेवलपमेंट में सोशल सर्विस से अत्यधिक योगदान दिया है।” 

देश में 18 लाख रिटेल शॉप पर आइकॉनिक होम-ग्रोन बेवरेज ब्रांड बेचा जाता है। रसना अब दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक कंसंट्रेट मैन्युफैक्चरर है। रसना दुनिया भर के 60 देशों में बेचा जाता है और मल्टीनेशनल कॉर्पोरेशन्स (MNCs) के वर्चस्व वाले बेवरेज सेगमेंट में हमेशा एक मार्केट लीडर रहा है। खंबाटा ने 1970 के दशक में उच्च कीमत पर बेचे जाने वाले सॉफ्ट ड्रिंक प्रोडक्ट के विकल्प में इसे पेश किया था। 

5 रुपए के रसना के एक पैकेट को 32 गिलास सॉफ्ट ड्रिंक में बदला जा सकता था, जिसकी कीमत मात्र 15 पैसे प्रति गिलास है। इसकी एड कैंपेन ‘आई लव यू रसना’ को आज भी याद किया जाता है। 80 और 90 के दशक में पले-बढ़े लोगों के दिमाग में ये कैंपेन आज भी ताजा है। 

सन 1976 में अहमदाबाद के खंबाटा परिवार ने रेडी-टू-सर्व कांसन्ट्रेट सॉफ्ट ड्रिंक्स बनाए और इन्हें ऑरेंज की एक वैरायटी के नाम, ‘जाफे’ के साथ लॉन्च कर दिया। कुछ ही समय में परिवार की दूसरी पीढ़ी के अरीज खंबाटा ने पाया कि ‘जाफे’ ब्रांड नेम से लोग ऑरेंज को नहीं पहचानते। ऐसे में उन्होंने 1979 में इस कांसन्ट्रेट सॅाफ्ट ड्रिंक का ब्रांड नेम बदल कर नया नाम दिया रसना, यानी रस (ज्यूस) कर दिया। 

अरीज खंबाटा के बेटे पिरुज खंबाटा 18 वर्ष के होने के साथ ही पुश्तैनी कारोबार से जुड़े। कंपनी का प्रोडक्ट पोर्टफोलियो बड़ा करते हुए पिरुज खंबाटा अपने दादा व पिता का यह बिजनेस मंत्र नहीं भूले कि उत्पाद भारतीय परंपरा के अनुसार हो, उनका आधार फल हो और मूल्य मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए अफोर्डेबल हो। पिरुज खंबाटा ने इन बुनियादी शर्तों को पूरा करते हुए रेडी-टू-सर्व सुविधा का भी ध्यान रखा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *