एपल की आपूर्तिकर्ता फॉक्सकॉन भारत में 53000 लोगों को देगी नौकरी  

मुंबई- एपल की आपूर्तिकर्ता फॉक्सकॉन ने भारत में अपने आईफोन कारखाने में दो वर्षों में कर्मचारियों की संख्या को चार गुना करने की योजना बनाई है। रिपोर्ट के मुताबिक, दो सरकारी अधिकारियों ने यह जानकारी दी है। उन्होंने इसे उत्पादन समायोजन का हिस्सा बताया है, क्योंकि कंपनी को चीन में व्यवधानों का सामना करना पड़ रहा है।  

फॉक्सकॉन हाल के हफ्तों में सुर्खियों में रही है। इसकी वजह चीन के संयंत्र में कड़े वायरस प्रतिबंध हैं। यह फैक्टरी दुनिया की सबसे बड़ी आईफोन फैक्टकी। यहां उत्पादन प्रभावित हो रहा है। इससे एपल को इस सप्ताह प्रीमियम आईफोन 14 मॉडल के शिपमेंट के लिए अपने पूर्वानुमान को कम करना पड़ा। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि ताइवान स्थित फॉक्सकॉन अब अगले दो वर्षों में और 53,000 कर्मचारियों को जोड़कर दक्षिणी भारत में अपने संयंत्र में कर्मचारियों की संख्या को 70,000 तक करने की योजना बना रही है। कंपनी ने 2019 में भारत में संयंत्र शुरू किया था और यह उत्पादन में तेजी ला रही है। इसने इसी साल आईफोन 14 का उत्पादन शुरू किया था।  

फॉक्सकॉन के चेयरमैन लियू यंग-वे ने गुरुवार को एक अर्निंग्स कॉल में कहा कि कंपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाएगी, ताकि क्रिसमस और नव वर्ष की छुट्टियों के लिए आपूर्ति पर कोई प्रभाव न पड़े। फॉक्सकॉन भारत में अपने परिचालन का विस्तार, शुरुआती मॉडल्स के लिए क्षमता बढ़ाने और भारतीय मांग को पूरा करने के लिए कर रही है।  

राज्य सरकार फॉक्सकॉन के साथ विस्तार को अंतिम रूप देने के लिए काम कर रही है। वर्तमान में, आईफोन को भारत में एपल के कम से कम तीन वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं द्वारा असेंबल किया जाता है। इसमें तमिलनाडु में फॉक्सकॉन और पेगट्रॉन जबकि कर्नाटक में विस्ट्रॉन है। जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों ने अनुमान लगाया था कि 2025 तक एपल के हर 4 में से एक आईफोन का निर्माण भारत में होने की उपलब्धि हासिल की जा सकती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *