हर दिन 100 रुपये बचाकर 20 लाख रुपये का फंड कर सकते हैं इकट्‌ठा 

मुंबई- इन दिनों रोजगार के अवसर तो बढ़े हैं, लेकिन महंगाई के हिसाब से मजदूरी नहीं बढ़ी है। इसलिए सबकी बचत पर असर पड़ा है। ऐसे माहौल में यदि आप रोज 100 रुपये की भी बचत करते हैं तो यह महीने में 3,000 रुपये हो जाएगा। आप इस 3,000 रुपये को हर महीने कसी बेहतर म्यूचुअल फंड की स्कीम के सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान यानी SIP में डाल सकते हैं।  

यह निवेश आपको लगातार 15 साल तक करना होगा। इस समय बाजार में ऐसे कई म्यूचुअल फंड हैं, जिन्होंने पिछले 15 साल में 15 फीसदी सालाना की दर से रिटर्न दिया है। अगर इतना ही रिटर्न आपको मिलता रहे तो 15 साल बाद आपके पास 20 लाख रुपये का फंड इकट्ठा हो जाएगा। 

आप किसी म्यूचुअल फंड स्कीम में हर महीने 3,000 रुपये का निवेश करते हैं। और यह निवेश लगातार 15 साल तक चलता रहता है। तो आपका लक्ष्य पूरा हो सकता है। 15 साल बाद आपका कुल निवेश 5.40 लाख रुपये का होगा। यदि आपके फंड मैनेजर का पर्फोंमेंस बेहतर रहा तो 15 साल बाद आपके एसआईपी की कुल वैल्यू 20 लाख रुपये की हो जाएगी।  

किसी आम निवेश के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश का सबसे अच्छा तरीका SIP ही है। इस तरीके से निवेश करने से अच्‍छी एवरेजिंग हो जाती है, जिससे घाटे का खतरा घट जाता है। ऐसा होने पर बढ़िया रिटर्न की भी संभावना बढ़ जाती है। इसे आसानी से यूं समझें कि इस समय उठा-पटक का दौर चल रहा है कि किसी खास दिन में आप संपूर्ण रकम नहीं लगा कर पूर्व निर्धारित तरीके से निवेश करते हैं। इससे जिस दिन सेंसेक्स गिरता है, उस दिन भी निवेश होता है और जिस दिन चढ़ता है,उस दिन भी। 

म्यूचुअल फंड रिटर्न की बात करें तो कुछ कई बेहतर स्कीम्स ने 15 साल में 15 फीसदी तक का रिटर्न दिया है। इनमें कई फंडों का नाम आता है। लेकिन, हम निवेशकों की सुरक्षा को देखते हुए किसी फंड का नाम नहीं दे रहे हैं। यहां, एक बात ध्यान देने योग्य है कि निवेश किसी एक फंड में अपनी पूरी राशि नहीं लगायें। यदि आप हर महीने 3,000 रुपये का निवेश कर रहे हैं तो इसे 1,000 रुपये करके तीन हिस्से में बांट दें और तीन अलग अलग फंड में लगायें। 

आपने हर महीने 3,000 रुपये का निवेश करना शुरू कर दिया और लक्ष्य 15 साल का तय किया है। तो यह जरूरी नहीं है कि आप लगातार 15 साल तक निवेश करते ही रहें। आप तब तक की इसमें निवेश करें, जब तक आपकी जेब इसकी अनुमति देते है। इस निवेश को आप जब भी चाहें रोक सकते हैं। ऐसा करने पर कोई पेनाल्‍टी नहीं लगती है। जब आपको लगे कि अब फिर से निवेश शुरू किया जा सकता है तो इसे फिर से चालू कर दें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *