39 लाख करोड़ के पार म्यूचुअल फंड एयूएम, महीने में आ सकता है 20 हजार करोड़ एसआईपी 

मुंबई- देश की म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) अगस्त में 39.3 लाख करोड़ रुपये हो गया है। जुलाई में 37.7 लाख करोड़ रुपये की तुलना में यह 4.2 फीसदी ज्यादा है। यह अब तक का रिकॉर्ड एयूएम है। एयूएम में बढ़त इसलिए आई है क्योंकि बाजार के बढ़ने से इक्विटी वाले फंडों में निवेशकों ने जमकर पैसा लगाया है।  

अगस्त में शुद्ध इक्विटी फंड का एयूएम 14.8 लाख करोड़ रुपये रहा जो कि जुलाई में 14.2 लाख करोड़ रुपये था। इसमें एनएफओ की रकम शामिल नहीं है। हालांकि जुलाई और अगस्त में बाजार की तेजी में निवेशकों ने जमकर मुनाफा वसूली की। अगस्त में एसआईपी के जरिये 12,693 करोड़ रुपये की रकम आई है। 

आंकड़ों के अनुसार, डायनॉमिक असेट अलोके शन या बैलेंस्ड एडवांटेज फंड का एयूएम 1.9 लाख करोड़ रुपये रहा जबकि इंडेक्स फंड का एयूएम अगस्त में एक लाख करोड़ रुपये के पार रहा। इक्विटी ईटीएफ एयूेम 4.6 लाख करोड़ रुपये रहा जो जुलाई में 4.4 लाख करोड़ रुपये था। डेट फंड से पैसा निकालने का रुझान अब खत्म हो गया है। लंबे समय में अच्छा फायदा पाने के लिए निवेशक लगातार एसआईपी का भरोसा जता रहे हैं। अगस्त में अब तक का इसका रिकॉर्ड रहा है। 

मई के बाद से एसआईपी में हर महीने 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश आ रहा है। जुलाई में यह 12,140 करोड़ था जबकि जून में 12,276 करोड़ और मई में 12,286 करोड़ रुपये था। अप्रैल में 11,863 करोड़ रुपये का निवेश आया था। चालू वित्त वर्ष के पहले पांच महीनों में एसआईपी के जरिये कुल निवेश की रकम 61 हजार करोड़ रुपये के पार पहुंच गई है। 2021-22 में इसमें से 1.24 लाख करोड़ रुपये की निकासी की गई थी। 

एसआईपी का एयूएम 6.4 लाख करोड़ रुपये है जबकि मार्च, 2022 में यह 5.76 लाख करोड़ रुपये था। पिछले पांच साल में सालाना इसकी वृद्धि दर 30 फीसदी से ज्यादा रही है। इस समय फंड में कुल 5.72 करोड़ एसआईपी खाते हैं। विष्लेषकों का मानना है कि अगले दो तीन सालों में महीने में 20 हजार करोड़ रुपये का एसआईपी आ सकता है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.