2025 तक हर चौथा आईफोन भारत में बना सकती है एपल 

नई दिल्ली। एपल 2025 तक हर चौथा आईफोन भारत में बना सकती है। जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों ने बुधवार को कहा कि बढ़ते भू-राजनीतिक तनाव और लॉकडाउन के बीच दिग्गज टेक कंपनी चीन में अपना उत्पादन बंद करना चाहती है। वह 2025 तक मैक, आईपैड, एपल वॉच और एयरपॉड समेत कुल एपल उत्पादों का 25 फीसदी उत्पादन चीन से बाहर कर सकती है।  

वर्तमान में कंपनी 5 फीसदी उत्पाद चीन से बाहर बनाती है। विश्लेषकों का कहना है कि चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टफोन बाजार है। कंपनी इस साल के अंत तक आईफोन-14 के कुल उत्पादन का 5 फीसदी भारत में कर सकती है।  

उन्होंने कहा कि स्थानीय निर्माण के बढ़ाना देने के भारत सरकार के प्रयासों के बीच एपल 2017 में विस्ट्रॉन और बाद में फॉक्सकॉन के साथ मिलकर भारत में आईफोन बना रही है। जेपी मॉर्गन के प्रमुख विश्लेषक गोकुल हरिहरन का कहना है कि हॉन हाई और पेगाट्रॉन जैसे ताइवान के वेंडरों की वजह से एपल भारत में अपनी उत्पादन इकाई स्थानांतरित करना चाहती है। इससे पहले ब्लूमबर्ग ने एक रिपोर्ट में कहा था कि देश में आईफोन बनाने के लिए टाटा समूह विस्ट्रॉन से बात कर रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.