एक ही केवाईसी से खुलेंगे बैंक, डीमैट खाता, बीमा और म्यूचुअल फंड में भी आएगा काम 

नई दिल्ली। तमाम वित्तीय लेन-देन के लिए अब एक ही केवाईसी का उपयोग किया जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि सेंट्रल डिपॉजिटरी केवाईसी पर काम करती है। हम अब ऐसे तरीके पर काम कर रहे हैं जिससे एक बार किसी का केवाईसी आने पर उसे सभी संस्थानों और तमाम जरूरतो के मुताबिक उपयोग में लाया जा सके। इससे कारोबार करने में आसानी होगी। अगर कारोबार अलग भी हुआ तो इसे बार- बार करने की जरूरत नहीं होगी। सरकार और नियामक इस पर काम कर रहे हैं। 

फिक्की के एक कार्यक्रम में मंत्री ने कहा कि पिछले हफ्ते वित्तीय क्षेत्र के नियामकों के साथ एक बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा हुई है। इसके मुताबिक, बीमा, बैंकिंग, म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार के लिए एक ही केवाईसी का उपयोग किया जाएगा। एक ही केवाईसी से तमाम सेवाओं के लिए पेपर का काम आम लोगों के लिए कम हो जाएगा। इससे बैंक खाता खोलना, नए निवेश करना या डीमैट खाता खोलने जैसी सुविधाओं में आसानी होगी। 

उन्होंने कहा कि जुलाई में यूपीआई लेनदेन 10.62 लाख करोड़ रुपये का रहा जिसमें 6.28 अरब लेन-देन किये गए थे। मार्च, 2022 में समाप्त वित्त वर्ष में कुल 46 अरब लेन-देन के जरिये 84.17 लाख करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.