2013 के बाद आरबीआई ने बेचा सबसे ज्यादाडॉलर, 38.8 अरब डॉलर की बिक्री

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रुपये की गिरावट थामने के लिए इस साल जनवरी से जुलाई के दौरान 38.8 अरब डॉलर की बिकवाली की है। यह पिछले 9 साल में सबसे ज्यादा बिकवाली है। इस समय यह तेजी से विदेशी मुद्रा भंडार का उपयोग रुपये की गिरावट रोकने के लिए कर रहा है।

शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, अकेले जुलाई में ही 19 अरब डॉलर को बेचा गया है। हालांकि, इसके बावजूद अगस्त में डॉलर की तुलना में रुपया गिरकर रिकॉर्ड 80 के पार पहुंच गया था। हालांकि, अभी भी यह 79 से 80 के बीच ही है और आने वाले समय में भी इसमें कोई बहुत ज्यादा सुधार की गुंजाइश नहीं है। अर्थशास्त्रियों का कहना है कि आरबीआई का विदेशी मुद्रा भंडार इतना ज्यादा है कि रुपये की कमजोरी को रोकने के लिए यह और ज्यादा डॉलर बेच सकता है।

आरबीआई ने 2013 में जून से सितंबर के बीच शुद्ध रूप से 14 अरब डॉलर की बिक्री की थी। उस समय अमेरिकी ट्रेजरी ब्याज में तेजी आई थी। इससे उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं की मुद्राओं पर असर पड़ा था। देश का विदेशी मुद्रा भंडार रिजर्व अक्तूबर, 2021 में 642 अरब डॉलर से घटकर अगस्त में 550 अरब डॉलर पर आ गया। यह पिछले दो साल का निचला स्तर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.