बांग्लादेश के साथ रुपये और टका में निर्यातक करसकते हैं कारोबार 

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने निर्यातकों से कहा है कि वे बांग्लादेश के साथ डॉलर और अन्य बड़ी मुद्राओं में कारोबार करने से बचें। इसकी जगह पर रुपये और टका में व्यापार कर सकते हैं।

बांग्लादेश की 416 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था ऊर्जा और भोजन की बढ़ती कीमतों से जूझ रही है, क्योंकि रूस-यूक्रेन संघर्ष ने अपने चालू खाते के घाटे को बढ़ा दिया है। साथ ही घटती विदेशी मुद्रा इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) जैसे वैश्विक उधारदाताओं की ओर मुड़ने के लिए मजबूर करती है। एसबीआई ने 24 अगस्त को अपनी सभी शाखाओं को भेजे गए पत्र में कहा कि हाल के दिनों में उच्च आयात बिल और डॉलर के मुकाबले बांग्लादेशी टका की कमजोरी के कारण देश विदेशी मुद्रा की कमी का सामना कर रहा है।

बांग्लादेश का विदेशी मुद्रा भंडार शुक्रवार को घटकर 37 अरब डॉलर पर पहुंच गया जो एक साल पहले 48 अरब डॉलर था। वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि बांग्लादेश आईएमएफ से 4.5 अरब डॉलर कर्ज की मांग कर रहा है। यह आईएमएफ के नियमों के अधिकतम एक अरब डॉलर से ज्यादा है। सूत्रों ने कहा कि एसबीआई बांग्लादेश में अपना एक्सपोजर नहीं बढ़ाना चाहता है। इसका फिलहाल एक्सपोजर 50 करोड़ डॉलर है। जरूरत पड़ी तो बैंक इसे कम भी कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.