हजारीबाग में महिंद्रा के कलेक्शन एजेंट ने गर्भवती महिला को ट्रैक्टर से कुचला, मौत

मुंबई – झारखंड के हजारीबाग में महिंन्द्रा फाइनेंस के रिकवरी एजेंट द्वारा दिव्यांग किसान की बेटी को कथित तौर पर ट्रैक्टर से कुचले जाने का मामला सामने आया है। मामले को लेकर कंपनी के सीईओ और एमडी अनीश शाह ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताते हुए पीड़ित परिवार के साथ अपनी संवेदना व्यक्त की है. साथ ही शाह ने जांच में पूरा सहयोग किये जाने की बात कही है. महिंद्रा ग्रुप के एमडी और सीईओ ने लिखा, “हम हजारीबाग की घटना से बहुत दुखी और परेशान हैं, एक शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. इस दुख की घड़ी में हम पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं. मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों को कंपनी की ओर से हर सहयोग किया जाएगा।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने अनीश शाह के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताते हुए पीड़ित परिवार के साथ अपनी संवेदना व्यक्त की है. साथ ही मामले में थर्ड पार्टी कलेक्शन का रिव्यू किये जाने की भी बात कही है। आनंद महिंद्रा ने जांच में पुलिस का सहयोग का आश्वासन दिया है।

दरअसल, हजारीबाग के दिव्यांग किसान मिथिलेश मेहता ने महिंद्रा फाइनेंस से ट्रैक्टर के लिए लोन लिया था, जिसकी किस्त वो समय से नहीं चुका पाया था. इसके बाद कंपनी की ओर से मैजेस के जरिए किसान को गुरूवार शाम तक करीब सवा लाख रूपये जमा कराने का अल्टीमेटम दिया गया था. जिसके बाद शुक्रवार को कंपनी के रिकवरी एजेंट किसान के ट्रैक्टर को ले जाने के लिए आ गए। इस दौरान किसान की गर्भवती बेटी ने रिकवरी एजेंट को समझाने की कोशिश की, लेकिन रिकवरी एजेंट जबरन ट्रैक्टर ले जाने लगे। इसी दौरान किसान की 27 साल की गर्भवती बेटी ट्रैक्टर की चपेट में आ गई। महिला की मौके पर ही मौत हो गई।

हादसे के बाद गुस्साए गांव वालों ने महिला के शव के साथ प्रदर्शन शुरु कर दिया. प्रदर्शनकारियों ने पीड़ित परिवार को दस लाख रूपये की आर्थिक मदद और महिंद्रा फाइनेंस के दोषी रिकवरी एजेंटों को तुरंत गिरफ्तार किये जाने की मांग की। हजारीबाग पुलिस ने महिंद्रा फाइनेंस कंपनी के स्थानीय मैनेजर समेत चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एक टीम का गठन किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.