फिर से कर्ज महंगा करने की तैयारी, एसबीआई ने बढ़ाया ब्याज

नई दिल्ली। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक से पहले ही कर्ज महंगा शुरू हो गया है। इससे इस महीने के अंत में ग्राहकों को कर्ज पर ज्यादा ब्याज चुकाना होगा। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने अपने बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट (बीपीएलआर) में 0.7 फीसदी का इजाफा कर दिया है। इसकी नई दर 13.45 फीसदी होगी जो पहले 12.75 फीसदी हुआ करती थी। जून में ही बैंक ने इस दर को बढ़ाया था। इस फैसले से उन ग्राहको को ज्यादा ब्याज चुकाना होगा जो पुनर्भुगतान करेंगे और जिनका कर्ज बीपीएलआर से जुड़ा है। बैंक ने अपनी वेबसाइट पर यह जानकारी दी है। नई दर 15 सितंबर से लागू हो चुकी है।

बैंक ने इसी के साथ मूल दर (बेस रेट) में भी बढ़ोतरी कर दी है। नई बेस रेट अब 8.7 फीसदी होगी। यानी बेस रेट पर अब जो नए कर्ज लेगें उनकी भी किस्त में वृद्धि होगी। ज्यादातर बैंक अब एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (ईबीएलआर) या रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (आरएलएलआर) पर कर्ज देते हैं। बैंक हर तिमाही में बीपीएलआर और बेस रेट की समीक्षा करते हैं।

जानकारों का मानना है कि एसबीआई के इस फैसले के बाद अब आने वाले समय में और बैंक इसका पालन कर सकते हैं तथा उनके भी कर्ज महंगे हो जाएंगे। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक 28 से 30 सितंबर के बीच होगी। इसमें एक बार फिर से ब्याज दरों को बढ़ाने की आशंका है। अगर ऐसा होता है तो मई के बाद यह चौथी बार होगा जब दरें ऊपर जाएंगी। अब तक तीन बार में 1.40 फीसदी रेपो रेट बढ़ चुका है। इससे पहले बैंकों ने जून में भी आरबीआई की बैठक से पहले ही दरों को बढ़ाना शुरू कर दिया था।

पंजाब नेशनल बैंक ने जमा पर ब्याज दर बढ़ा दिया है। इसने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए अब 2 करोड़ से कम के जमा पर 0.30 फीसदी अधिक ब्याज मिलेगा। नई दर 13 सितंबर से लागू हो चुकी है। 5-10 साल की अवधि पर 6.15 फीसदी ब्याज मिलेगा जो अभी तक 6.15 फीसदी मिलता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.