बायजू को 2021 के वित्तवर्ष में 4,588 करोड़ रुपये का भारी घाटा 

मुंबई- देश की दिग्गज एजुटेक कंपनी बायजूस को वित्त वर्ष 2021 में भारी नुकसान हुआ है। कंपनी ने बुधवार को वित्त वर्ष 2020-21 के अपने ऑडिटेड वित्तीय आंकड़े जारी किये हैं। कंपनी को 2021 में परिचालन से 2280 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ। जबकि कंपनी को इस दौरान 4,588 करोड़ रुपये का भारी भरकम घाटा हुआ। यह पिछले वित्त वर्ष से 262 करोड़ रुपये अधिक है।  

इस तरह हम कह सकते हैं कि बायजूस ने एक रुपया जुटाने के लिए 2 रुपये खर्च किए। हालांकि, कंपनी के सीईओ बायजू रवींद्रन ने कहा है कि इस घाटे की चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि यह यह घाटा अकाउंटिंग प्रैक्टिस में हुए कुछ बदलावों के चलते हुआ है। उन्होंने कहा कि राजस्व का कुछ हिस्सा वित्त वर्ष 2022 के आंकड़ों में दिखाई देगा। 

कंपनी के फाउंडर और सीईओ ने बीते हफ्ते शेयरधारकों को कई चीजों के बारे में बताया था। उन्होंने बताया था कि कैसे कोविड-19 महामारी के चलते बिजनेस मॉडल में बदलाव आया। बायजू रवींद्रन ने कहा, ‘वित्त वर्ष 2020 की तुलना में राजस्व में अच्छी ग्रोथ दर्ज हुई। रवींद्रन ने जोर देकर कहा, ‘कोई भी रेवेन्यू लॉस नहीं है, जिसे ऑडिट रिपोर्ट में बताया जा रहा है, बल्कि इसके कारण वित्त वर्ष 2022 में और अधिक ग्रोथ होगी।’ 

रवींद्रन ने कहा कि फर्म को हुए 4,588 करोड़ रुपये के नुकसान को बायजू और व्हाइटहैट जूनियर के बीच समान रूप से विभाजित किया गया था, जिसका उसने 2020 में अधिग्रहण किया था। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीने “चुनौतीपूर्ण” रहे हैं। कंपनी को ऑडिटेड अकाउंट्स फाइल करने में देरी के चलते सवालों का सामना करना पड़ा। पिछले महीने भारत सरकार के कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय (MCA) ने बायजूज से पूछा था कि उसने अब तक भी वित्त वर्ष 2021 के फाइनेंशियल अकाउंट्स जमा क्यों नहीं किए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.