इस साल कुल 51 आईपीओ आए, इसमें से औसतन 50 फीसदी मिला फायदा 

मुंबई- कैंलेडर वर्ष 2022 प्राइमरी मार्केट के लिए निराशाजनक रह सकता है। इस साल अब तक आए IPO की संख्या में सालाना आधार पर कमी आई है, लेकिन रिटर्न के मामले में इन IPO से निवेशकों ने बेहतर कमाई की है। 2022 में अब तक IPO ने औसतन 50% रिटर्न दिया है, जबकि सेंसेक्स महज 1.6% चढ़ा है। इस साल अब तक आए 51 IPO से कंपनियों ने कुल 38,155 करोड़ रुपए जुटाए हैं, हालांकि पिछले साल इसी अवधि में 55 IPO से कंपनियां 64,768 करोड़ जुटा चुकी थीं। 

पिछले साल की तुलना में 2022 में अब तक सिर्फ आठ IPO ऐसे आए हैं जिन्हें आकार में बड़ा कहा जा सकता है। इनमें से LIC का IPO सबसे बड़ा 21,000 करोड़ रुपए का रहा, लेकिन यह रिटर्न देने के मामले में खराब प्रदर्शन करने वालों में शुमार है। 33 अन्य कंपनियों के IPO 1,000 करोड़ से ज्यादा के रहे। बैंक ऑफ बड़ौदा की अर्थशास्त्री दीपान्विता मजूमदार के विश्लेषण से यह जानकारी सामने आई है। 

2021 में सेंसेक्स में 20% तेजी के मुकाबले IPO ने 74% रिटर्न दिया विश्लेषण रिपोर्ट के मुताबिक, 2021 के दौरान सेंसेक्स में 20% तेजी के मुकाबले IPO ने 74% रिटर्न दिया, लेकिन 1,000 करोड़ रुपए से अधिक राशि वाले 16 बड़े IPO के शेयर फिलहाल डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहे हैं। पूरे कैलेंडर वर्ष 2021 में कुल 99 IPO आए थे। इनके जरिए कंपनियों ने 1,21,680 करोड़ रुपए की पूंजी बाजार से जुटाई थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.