अगस्त में पाम तेल का आयात बढ़कर 11 महीने की ऊंचाई पर 

मुंबई। अगस्त में पाम तेल का आयात 87 फीसदी बढ़कर 11 महीने की ऊंचाई पर पहुंच गया है। अगस्त में पाम तेल का आयात 994,997 टन रहा जो कि जुलाई में 530,420 टन रहा था।  

सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ने बताया कि रिफाइनरीज ने आक्रामक तरीके से पाम तेल की खरीदी की है क्योंकि यह सूरजमुखी और सोयो तेल के मुकाबले डिस्काउंट में मिल रहा था। ड्यूटी चुकाने के बाद भी पाम तेल कारोबारियों को सस्ते में मिल रहा था। इस पर 5.5 फीसदी का टैक्स लगता है जबकि सोयो और सूरजमुखी पर कोई आयात टैक्स नहीं है। 

सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सोपा) ने सरकार से आनुवांशिक रूप से संशोधित (जीएम) सोयाबीन के अवैध आयात के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है। वर्तमान में जीएम उत्पादों का आयात प्रतिबंधित है। केंद्रीय कृषि मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा गया है कि कुछ कंपनियां हर नियम और कानून के उल्लंघन में जीएम सोयाबीन का आयात कर रही हैं। एक जहाज 17,741 टन जीएम सोयाबीन के साथ मुंबई बंदरगाह पर है जो अवैध है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.