एन्यूटी चुनने के लिए अलग से नहीं भरना होगा फॉर्म 

मुंबई- पेंशन कोष से निकलने के बाद अब नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) पेंशन धारकों को एन्यूटी का चयन करने के लिए अलग से फॉर्म भरने की जरूरत नहीं होगी। बीमा नियामक भारतीय बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडाई) ने मंगलवार को जारी एक सर्कुलर में कहा कि रिटायर व्यक्ति द्वारा जमा किए गए एग्जिट फॉर्म को ही बीमा कंपनियों को प्रस्ताव फॉर्म के रूप में मानना होगा।  

एन्यूटी उत्पाद बीमा कंपनियां बेचती हैं। इसी के साथ पेंशनधारकों को लाइफ प्रमाणपत्र अब डिजिटल तरीके से जमा करने की भी मंजूरी मिल गई है। यह नया नियम तुरंत प्रभाव से लागू हो गया है। दूसरी ओर, पीएफआरडीए इरडाई से इस बारे में बातचीत कर रहा है कि एनपीएस के पेंशनधारकों को अपना एन्यूटी प्लान पोर्ट कराने की सुविधा मिले।  

यह प्रस्ताव अगर मंजूर हो जाता है तो इससे पेंशन धारकों को फायदा होगा। इसका सीधा मतलब कि कोई पेंशनधारक अपनी कंपनी से खुश नहीं है तो वह दूसरी बीमा कंपनी में ज्यादा ब्याज वाले एन्यूटी प्लान के लिए पोर्ट कर सकता है। पेंशनधारकों को 60 साल पर रिटायर होने के बाद नियमित आय होती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.