एलआईसी की सरल पेंशन योजना में एक प्रीमियम पर जीवन भर पेंशन  

मुंबई- वर्कप्लेस पर जिस तरह से तनाव का माहौल रहता है, उसे देखते हुए आज की युवा पीढ़ी काफी जल्दी रिटायर्मेंट लेना चाहती है। लेकिन रिटायरमेंट के बाद आपके खर्चों को पूरा करने के लिए एक नियमित आय या किसी बड़े फंड की जरूरत होती है। ऐसे में एलआईसी की सरल पेंशन योजना आपके काम आ सकती है।  

साठ साल की उम्र के बाद पेंशन से जुड़ी तो कई योजनाएं हैं, लेकिन यहां आप इससे कम उम्र से ही पेंशन का लाभ ले सकते हैं। एलआईसी सरल पेंशन स्कीम एक नॉन-लिंक्ड, एकल प्रीमियम, व्यक्तिगत तत्काल वार्षिकी योजना है।  

एलआईसी सरल पेंशन योजना को सिंगल लाइफ और ज्वाइंट लाइफ दोनों तरह से लिया जा सकता है। सिंगल लाइफ में पॉलिसी किसी एक व्यक्ति के नाम पर होती है। पॉलिसीधारक को अपने पूरे जीवनकाल तक पेंशन मिलती रहती है। पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाने पर बेस प्रीमियम की राशि उसके नॉमिनी को लौटा दी जाती है।  

दूसरी तरफ ज्वाइंट लाइफ में पति और पत्नी दोनों एक साथ पेंशन ले सकते हैं। जब तक प्राथमिक पेंशनधारी जीवित रहते हैं, उन्हें पेंशन मिलती रहती है। जब उनकी मृत्यु हो जाती है, तो उसके जीवनसाथी को पेंशन मिलती है। जीवनसाथी की मृत्यु के बाद बेस प्रीमियम की राशि नॉमिनी को दे दी जाती है। 

इस प्लान को आप अकेले या अपने पति/पत्नी के साथ भी ले सकते हैं। इसमें एकमुश्त निवेश करना होता है और फिर आपको पेंशन मिलती रहती है। इस पॉलिसी को लेते समय ही ग्राहक को एकमुश्त प्रीमियम भरना होता है और पॉलिसी लेने के बाद से ही पेंशन मिलना शुरू हो जाती है। जितनी पेंशन से शुरुआत होती है, उतनी ही पेंशन पूरी जिंदगी मिलती रहती है।  

इस योजना के लिए न्यूनतम उम्र 40 साल और अधिकतम उम्र 80 साल है। इस पॉलिसी को शुरू होने के छह महीने बाद कभी भी सरेंडर किया जा सकता है। इस योजना में लोन की सुविधा भी मिलती है। ग्राहक योजना शुरू होने के छह महीने बाद लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। वहीं, अगर आपको किसी बीमारी के इलाज के लिए पैसों की जरूरत है, तो आप पॉलिसी में जमा पैसा भी वापस निकाल सकते हैं। पॉलिसी को सरेंडर करने पर ग्राहक को बेस प्राइस का 95 फीसदी हिस्सा वापस मिल जाता है। 

एलआईसी सरल पेंशन योजना में पेंशन पाने के चार विकल्प मिलते हैं। ग्राहक मासिक, तिमाही, छमाही या सालना पेंशन ले सकते हैं। मासिक पेंशन न्यूनतम 1000 रुपये, तिमाही पेंशन न्यूनतम 3,000 रुपये, छमाही पेंशन न्यूनतम 6,000 रुपये और सालाना पेंशन न्यूनतम 12,000 रुपये की होगी। यहां अधिकतम पेंशन राशि की कोई सीमा नहीं है।  

उदाहरण के लिए अगर आपकी उम्र 42 साल है और आप 30 लाख रुपये की एन्युटी खरीद रहे हैं, तो आपको 12,388 रुपये महीने की पेंशन मिलेगी। अगर आप अधिक राशि की पेंशन पाना चाहते हैं, तो उसी अनुसार आप अधिक राशि का सिंगल प्रीमियम जमा करा सकते 

Leave a Reply

Your email address will not be published.