तेल कंपनियों को मिल सकता है 200 अरब रुपये, घटेगा पेट्रोल का दाम  

मुंबई- घाटे की आंशिक भरपाई के लिए सरकारी तेल कंपनियों को सरकार 200 अरब रुपये दे सकती है। इससे आने वाले समय में रसोई गैस और तेल की कीमतों में कमी भी हो सकती है।  

सूत्रों ने बताया कि तेल मंत्रालय 280 अरब रुपये के मुआवजे की बातों पर विचार कर रहा है। लेकिन वित्त मंत्रालय केवल 200 अरब रुपये पर ही राजी हुआ है। इस बारे में अंतिम फैसला कुछ समय बाद लिया जाएगा। देश के तेल बाजार पर तीन बड़ी सरकारी कंपनियों का 90 फीसदी क ब्जा है। जून तिमाही में इन कंपनियों को 40 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का घाटा हुआ था। हालांकि सितंबर तिमाही में इसमें कमी आने की उम्मीद है क्योंकि कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई है।  

तेल कंपनियों को घाटा इसलिए भी हुआ क्योंकि महंगाई को रोकने के लिए अप्रैल से इन्होंने कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की थी। सरकार ने मार्च में समाप्त वित्त वर्ष के लिए तेल पर सब्सिडी 58 अरब रुपये तय की थी जबकि फर्टिलाइजर सब्सिडी 1.05 लाख करोड़ रुपये आंकी गई थी।  तेल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय भाव के आधार पर कच्चा तेल खरीदती हैं। भारत अपनी जरूरतों का ज्यादातर हिस्सा आयात से पूरा करता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.