25 साल में दूध उत्पादन 3 गुना बढ़कर 62.8 करोड़ टन होगा   

मुंबई- देश में दूध उत्पादन 4.5 प्रतिशत की औसत वार्षिक वृद्धि के साथ अगले 25 साल में तीन गुना बढ़कर 62.8 करोड़ टन हो जाने की उम्मीद है। अमूल के प्रबंध निदेशक आर एस सोढ़ी ने सोमवार को यह कहा। 

अमूल ब्रांड के तहत डेयरी उत्पादों का विपणन करने वाले गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (जीसीएमएमएफ) के प्रबंध निदेशक ने कहा कि वर्ष 2021 में देश का दूध उत्पादन 21 करोड़ टन था। 

उन्होंने डेयरी क्षेत्र के परिदृश्य के बारे में एक प्रस्तुति देते हुए कहा, ‘‘भारत में दूध उत्पादन अगले 25 साल में 4.5 प्रतिशत की संचयी वृद्धि के साथ 62.8 करोड़ टन तक पहुंचने का अनुमान है।’’सोढ़ी ने यहां इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट में आयोजित इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन वर्ल्ड डेयरी समिट (आईडीएफ डब्ल्यूडीएस) 2022 में यह बात कही। 

वैश्विक उत्पादन में भारत की हिस्सेदारी अगले 25 वर्षों में लगभग 23 प्रतिशत से लगभग दोगुनी होकर 45 प्रतिशत होने का अनुमान है। सोढ़ी ने कहा कि बढ़ती आबादी के कारण मांग भी बढ़ने वाली है। उन्होंने कहा कि अगले 25 साल में दूध की मांग बढ़कर 51.7 करोड़ टन होने की उम्मीद है, जिससे 11.1 करोड़ टन दूध का निर्यात अधिशेष रह जाएगा। 

जीसीएमएमएफ के प्रबंध निदेशक ने कहा कि भारत में दूध की प्रति व्यक्ति उपलब्धता अगले 25 साल में बढ़कर 852 ग्राम प्रतिदिन हो जाएगी, जो वर्ष 2021 में 428 ग्राम प्रतिदिन थी। सोढ़ी ने कहा कि भारत के डेयरी क्षेत्र में दुनिया में सबसे कुशल आपूर्ति श्रृंखला है। उपभोक्ताओं को दूध की आपूर्ति के लिए पैकेजिंग और परिवहन लागत वैश्विक औसत की तुलना में बहुत कम है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.