वोडाफोन आइडिया में सरकार ले सकती है हिस्सेदारी, शेयरों में आई तेजी 

मुंबई- कर्ज में डूबी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड (VIL) के शेयर का भाव 10 रुपए पर स्थिर हो जाने पर सरकार इस कंपनी में हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी। एक आधिकारिक सूत्र ने इस बात की जानकारी दी है। बाजार नियामक सेबी के मानकों के मुताबिक हिस्सेदारी का अधिग्रहण समान मूल्य पर ही होना चाहिए। VILके शेयर का भाव 10 रुपए के करीब स्थिर होने के बाद दूरसंचार विभाग हिस्सेदारी अधिग्रहण को मंजूरी देगा। 

VIL पर सरकार को ब्याज के तौर पर करीब 16,000 करोड़ रुपए देने हैं। इसके निदेशक मंडल ने इस देनदारी के एवज में सरकार को 10 रुपए प्रति शेयर के समान भाव पर हिस्सेदारी देने की पेशकश की है। इस हिस्सेदारी के अधिग्रहण के बाद VIL में सरकार की हिस्सेदारी करीब 33% हो जाएगा जबकि कंपनी के प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 74.99% से घटकर 50% से नीचे आ जाएगी। 

वोडाफोन इंडिया के प्रमोटर और चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला हैं। कंपनी में उनकी 27% और ब्रिटेन की कंपनी वोडाफोन PLC की 44% हिस्सेदारी है। कंपनी का मौजूदा मार्केट कैप 31200 करोड़ रुपए है। कंपनी की खस्ता हालत देख दोनों प्रमोटर्स ने कंपनी में ताजा निवेश नहीं करने का फैसला किया है। 

VIL पर 30 सितंबर, 2021 तक 1,94,780 करोड़ रुपए का कुल कर्ज था। अप्रैल-जून तिमाही, 2022 के अंत में यह कर्ज बढ़कर 1,99,080 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। VIL के शेयर गत 19 अगस्त से ही 10 रुपए के स्तर से नीचे कारोबार कर रहे हैं। रिलायंस जियो के आने के बाद बिड़ला की आइडिया और वोडाफोन एक में मिल गई थीं। इसके बाद देश में भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) को लेकर चार टेलीकॉम कंपनियां प्रमुख रह गईं। वोडाफोन आइडिया लगातार घाटा दे रही है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.