आइनॉक्स फूड बाजार में भी उतरेगा, 800 करोड़ के राजस्व का लक्ष्य 

मुंबई- मनोरंजन सेक्टर में काफी सफल रहे आइनॉक्स ने अब फूड इंडस्ट्री में कदम रखने का फैसला किया है। आइनॉक्स अब फिल्म स्क्रीनिंग के साथ फूड एंड बेवरेज सेक्टर में अपना व्यापार बढ़ाने वाला है और इसके जरिए कंपनी ने 800 करोड़ के रेवेन्यु का लक्ष्य बनाया है, जो साल 2023 तक पूरा किया जाना है। कंपनी फूड सेक्टर से अपने बिजनेस में भारी ग्रोथ का अनुमान लगा रही है। 

बताया जा रहा है कि कंपनी का अनुमान है कि आने वाले वक्त में कंपनी के रेवेन्यु में 28 से 35 फीसदी हिस्सा फूड सेक्टर से होने वाली सेल का होगा। ऐसे में सवाल है कि आखिर किस तरह से बाजार में प्रवेश करने जा रही है और फूड सेक्टर में कंपनी के बिजनेस का क्या प्लान है। 

बता दें कि कंपनी ने मार्च 2023 तक 800 करोड़ के राजस्व का लक्ष्य तय किया है। इससे पहले कंपनी का रेवेन्यु 2019-20 में 525 करोड़ रुपये था। कंपनी ने पांच साल पहले पॉपकॉर्न, कोल्ड ड्रिंक बेचने के साथ ही पिजा, पास्ता, बर्गर, रोल बेचना शुरू किया था। लेकिन, अब कंपनी इसका और भी ज्यादा विस्तार करने जा रही है और खाने के सामान के बेचने का तरीका भी बदलने वाली है। 

अगर कंपनी के फूड सेक्टर के बिजनेस की बात करें तो अभी कंपनी कॉफी के साथ कई सामान बेच रही है। इसके अलावा अब कंपनी ने स्विगी और जौमेटो के जरिए आउटडोर फूड कैटरिंग का काम भी शुरू कर दिया है। बता दें कि पहले एफएंडबी में 80 फीसदी काराबोर पॉपकॉर्न, कोला बेचने से ही था मगर अब ये 60 फीसदी हो गया और 40 फीसदी में नाचोज आदि ने जगह ले ली है। अभी कुल कारोबार में फूड सेक्टर का हिस्सा 20-25 फीसदी है, जिसे अब बढाया जाएगा। 

बता दें अभी आइनॉक्स हर साल 2 करोड़ कॉफी कप, 1.3 करोड़ कोला, 50 लाख समोसे, 1200 टन पॉपकॉर्न की बिक्री करता है। अभी कंपनी की करीब 75 शहरों में 692 स्क्रीन हैं। 

अब कंपनी की ओर से लक्ष्य है कि फूड सेक्टर की कुल बिजनेस में हिस्सेदारी को 28 से 35 फीसदी तक किया जाए. साथ ही अब रेवेन्यु को 800 करोड़ तक किए जाने का लक्ष्य है। बता दें कि 2021-22 में कोविड-19 की वजह से लगे बैन के कारण यह बिजनेस काफी प्रभावित हुआ था. अब इसे फिर से बढ़ाए जाने को लेकर काम किया जा रहा है। 

कंपनी एक तो अपनी स्क्रीन्स में इजाफा करने जा रही है। साल 2022-23 के बाद 834 अतिरिक्त स्क्रीन जोड़ने की योजना है। आईनॉक्स लेजर की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक उसकी कुल स्क्रीन संख्या 752 तक पहुंच जाएगी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.