एक महीने में पांच बैंकों ने महंगा किया कर्ज, बढ़ गई ब्याज दरें  

मुंबई- रिजर्व बैंक ने जैसे ही अपना रेपो रेट बढ़ाया, सभी बैंकों ने होम लोन की दरें बढ़ा दीं। महंगाई को काबू करने के लिए रिजर्व बैंक ने अभी हाल में रेपो रेट में 50 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी की थी। यह हालिया बढ़ोतरी अगस्त महीने में की गई थी। उससे पहले रिजर्व बैंक 90 बेसिस पॉइंट तक रेपो रेट बढ़ा चुका था। इस तरह रेपो रेट में कुल 140 बेसिस पॉइंट तक बढ़ोतरी हो चुकी है। इसी के साथ सरकारी और प्राइवेट बैंकों ने अपने होम लोन की दरें बढ़ा दी हैं।  

पिछले एक महीने में देश के 5 बड़े बैंकों ने ब्याज दर में वृद्धि की है। इन बैंकों में एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक और पीएनबी शामिल हैं। भारतीय स्टेट बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क आधारित लेंडिंग रेट (ईबीएलआर) में वृद्धि की है जिसकी नई दरें 15 अगस्त 2022 से लागू हैं। एसबीआई का नया लेंडिंग रेट 8.05 परसेंट हो गया है। पहले यह दर 7.55 परसेंट हुआ करती थी।  

आईसीआईसीआई बैंक के मुताबिक, रिजर्व बैंक का नया रेपो रेट 5 अगस्त, 2022 से 5.40 फीसद पर पहुंच गया है। आरबीआई के रेपो रेट पर ही आईसीआईसीआई बैंक का एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट निर्भर करता है. इसी आधार पर इस बैंक ने 5 अगस्त से अपना ईबीएलआर 9.10 परसेंट कर दिया है। 

बैंक ऑफ बड़ौदा का रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट 6 अगस्त, 2022 से प्रभावी है. रिटेल लोन पर 7.95 फीसद की दर से ब्याज लिया जा रहा है। बड़ौदा रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट में रेपो रेट जो कि 5.40 परसेंट और मार्क अप रेट 2.55 फीसद जुड़ा होता है। 

केनरा बैंक ने रेपो रेट लिंक्ड लेंडिंग रेट को 50 बेसिस पॉइंट तक बढ़ा दिया है। पहले यह दर 7.80 परसेंट थी जिसे बढ़ाकर 8.30 फीसद कर दिया गया है। नई दर 7 अगस्त, 2022 से लागू है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.