बेरोजगारी छत्तीसगढ़ में सबसे कम, देश में 8 फीसदी से ज्यादा बेरोजगारी 

मुंबई- छत्तीसगढ़ में अगस्त महीने में बेरोजगारी दर 0.4 फीसदी रही है। जबकि, इसी अवधि में देश की बेरोजगारी दर 8.3 फीसदी रही है। जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ पिछले कई महीनों से सबसे कम बेरोजगारी दर वाले राज्यों में सबसे ऊंचे स्थान पर बना हुआ है।  

अगस्त 2022 में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.4 फीसदी है। जबकि देश में बेरोजगारी दर 8.3 फीसदी है। जुलाई महीने में छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 0.8 फीसदी रही है. मई में यह 0.7 प्रतिशत और मार्च-अप्रैल महीने में यह सबसे कम 0.6 फीसदी रही है। 

अधिकारियों ने बताया कि राज्य में नई सरकार के गठन के बाद अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए कई काम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि ऐसी योजनाओं पर जोर दिया गया और क्रियान्वयन किया गया, जिससे रोजगार के नए अवसर पैदा हों। उन्होंने बताया कि सरकार बनने के साथ ही कर्ज माफी और समर्थन मूल्य में वृद्धि जैसे योजनाओं से शुरुआत की गई। 

इसके बाद राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, सुराजी गांव योजना, नरवा-गरवा-घुरवा-बाड़ी कार्यक्रम, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन किसान न्याय योजना, नयी औद्योगिक नीति का निर्माण, वन और कृषि उपजों के संग्रहण की बेहतर व्यवस्था जैसे कई कदम उठाए गए। 

अधिकारियों ने बताया कि राज्य के स्कूलों में नियमित शिक्षक की भर्ती की जाएगी। आत्मानंद स्कूल के विस्तार के साथ ही अंग्रेजी माध्यम के कॉलेज की भी शुरुआत की जा रही है. गोधन न्याय योजना का विस्तार करते हुए गोमूत्र खरीदी की शुरुआत की गई है। खरीदे गए गोमूत्र से भी खाद और कीटनाशकों का निर्माण किया जाएगा, जिससे रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। 

देश में बेरोजगारी दर अगस्त में एक साल के उच्चस्तर 8.3 प्रतिशत पर पहुंच गई। इस दौरान रोजगार पिछले महीने की तुलना में 20 लाख घटकर 39.46 करोड़ रह गया। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में बेरोजगारी दर 6.8 प्रतिशत थी और रोजगार 39.7 करोड़ था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.