एक लाख का निवेश इस शेयर में बन गया 169 करोड़ रुपये 

मुंबई- टाइटन कंपनी ने निवेशकों को मालामाल कर दिया है। इस कंपनी ने बोनस शेयर के साथ स्टॉक विभाजन की भी घोषणा की है। भारतीय शेयर बाजार ने हाल के वर्षों में जो मल्टीबैगर स्टॉक खड़ा किया है, उसमें एक नाम टाइटन शेयर का भी है। 

कभी 3 रुपये से शुरू हुआ टाइटन का शेयर आज 2535 रुपये पर पहुंच गया है। पिछले 20 साल में इस शेयर ने 845 गुना की छलांग मारी है. जिन लोगों ने इस शेयर में लंबी अवधि में पैसा लगाया, उन्होंने कमाई तो की ही, कंपनी ने 10:1 के हिसाब से शेयर स्पिलट और 1:1 बोनस शेयर की भी घोषणा की। स्टॉक स्पिलट से शेयरहोल्डर को कोई सीधा फायदा नहीं होता, लेकिन शेयर बंटने से इसकी संख्या बढ़ती है और इनपुट कॉस्ट कम हो जाती है।  

जिन लोगों ने 20 साल पहले टाइटन के शेयर खरीदे थे, उनके इनपुट कॉस्ट में 10 फीसद तक की गिरावट देखी गई है। टाटा ग्रुप कंपनी ने जून 2011 में शेयर होल्डर के लिए 1:1 बोनस शेयर का ऐलान किया। इस हिसाब से जिन लोगों ने 20 साल पहले टाइटन के शेयर खरीदे थे, उनका इनपुट कॉस्ट 50 परसेंट तक गिर गया।  

स्टॉक विभाजन के चलते पहले ही 10 परसेंट इनपुट कॉस्ट कम हो गया था। बाद में बोनस शेयर से निवेशकों का कॉस्ट प्राइस 5 परसेंट और गिर गया. इस तरह जिन लोगों ने 3 रुपये में एक शेयर खरीदा था, उस एक शेयर की असली कीमत 0.15 रुपये पर पहुंच गई। 

इस हिसाब से देखें तो शेयर की खरीद मूल्य 3 रुपये न होकर 0.15 रुपये हो गई और उसकी बढ़त 2535 रुपये पर पहुंच गई। पिछले दो दशक में टाइटन के शेयर में 16,900 गुना तक बढ़ोतरी देखी गई है। अगर एक निवेशक ने बीस साल पहले टाइटन कंपनी के शेयरों में 3 रुपये का भुगतान करके 1 लाख रुपये का निवेश किया होता, तो इसका 1 लाख रुपया पिछले दो दशकों में 1 लाख से 169 करोड़ में बदलकर 16,900 गुना बढ़ जाता। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.