त्योहारी सीजन में हवाई किराया होगा महंगा, जानिए कितना बढ़ेगा 

मुंबई- इस त्योहारी सीजन में प्लेन से सफर करना आपकी जेब पर काफी भारी पड़ सकता है। एयरलाइन कंपनियां किराया बढ़ाने की तैयारी में हैं। एयरक्राफ्ट के इंजन और स्पेयर यानी पुर्जों की कमी कई इंडियन एयरलाइन्स की योजनाओं पर पानी फेरने का काम कर रही है। ये ऐसे समय हो रहा है जब एयरलाइन कंपनियां त्योहारी सीजन से काफी उम्मीदें लगाएं बैठी हैं।  

एयरलाइन के अधिकारियों का कहना है कि अक्टूबर से जनवरी के बीच किराए में इजाफा हो सकता है। एयरबस ए 320 नियो और बोइंग 737 जैसे विमानों के लिए इंजन बनाने वाले प्रैट एंड व्हिटनी और सीएफएम इंटरनेशनल को सप्लाई से जुड़ी दिक्कत होने से नए विमान तैयार करना मुश्किल हो रही है। 

इंडिगो को कुछ 20 विमानों को बंद करने पर मजबूर होना पड़ा है। क्योंकि अमेरिका की प्रैट एंड व्हिटनी से स्पेयर इंजन की सप्लाई कम से कम दो महीने लेट हो गई है. इसके चलते मार्केट लीडर इंडिगो जो प्रति दिन लगभग 1,550 उड़ानें ऑपरेट कर रही है, उसे भी मजबूरन 20 विमानों को खड़ा करना पड़ा है। 

इंडिगो ए320नियो के किराये अवधि को दो साल बढ़ाने और कमी को पूरा करने के लिए पुराने एयरक्राफ्ट को सेकेंडरी मार्केट से लीज पर लेने पर भी विचार कर रही है। इंडिगो के एक प्रवक्ता ने कहा कि दुनिया भर में सप्लाई में कमी होने से डिलीवरी में देरी हो रही है। ऐसे में हम अपनी भविष्य में कम से कम परेशानी हो, इसके लिए फ्लीट की प्लानिंग और लीज रिटर्न को एडजस्ट कर रहे हैं। वहीं, हम तीसरी तिमाही में बेहतर राजस्व की उम्मीद कर रहे हैं। 

वाडिया ग्रुप की कंपनी गो फर्स्ट, जो मार्च 2023 तक 10 एयरबस विमानों को शामिल करने की उम्मीद कर रहा था. उसे डिलीवरी इस साल अगस्त से मिलनी शुरू होनी थी, लेकिन अब तक कोई नया विमान नहीं मिला है। पेमेंट और सप्लाई चेन के मुद्दों के कारण एयरलाइन के पास पहले से ही अपने लगभग 20 एयरबस A320neo हैं।  

एयरलाइन के अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि त्योहारी सीजन के दौरान हवाई किराए में बढ़ोतरी हो सकती है। ब्रोकरेज फर्म कोटक सिक्योरिटीज के एनालिस्ट का कहना है कि भारतीय एयरलाइंस के लिए लिमिटेड कैपेसिटी में बढ़ोतरी को देखते हुए एयरलाइंस के लिए हेल्दी रिटर्न वित्त वर्ष 2024 में बने रहने की संभावना है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.