टाटा ग्रुप के इस शेयर में आया 600 फीसदी का उछाल 

मुंबई- टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा मोटर्स के शेयरों ने लगभग 2.5 वर्षों में 600 प्रतिशत से अधिक की छलांग लगाई है। 3 अप्रैल, 2020 को स्टॉक 65.30 रुपये पर बंद हुआ था। 26 अगस्त को इसने 460 रुपये के स्तर पर कारोबार किया। इस अवधि के दौरान इस शेयर ने 604 प्रतिशत का रिटर्न दिया। दिवंगत निवेशक राकेश झुनझुनवाला के पास चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही के अंत में 1.09 प्रतिशत या 3.62 करोड़ शेयर हैं। 

शुक्रवार को बीएसई पर लार्ज कैप स्टॉक 1.25 फीसदी बढ़कर 468.55 रुपये पर बंद हुआ। बीएसई पर फर्म का मार्केट कैप बढ़कर 1.54 लाख करोड़ रुपये हो गया। इससे पहले, लार्ज कैप स्टॉक बीएसई पर 2.07 प्रतिशत की बढ़त के साथ 468 रुपये के उच्च स्तर को छू गया था।  

टाटा मोटर्स का स्टॉक 17 नवंबर, 2021 को 52-सप्ताह के हाई 536.50 रुपये और 26 अगस्त, 2021 को 281.40 रुपये के 52-सप्ताह के लो स्तर पर पहुंच गया था। टाटा मोटर्स के शेयर की कीमत एक साल में 64.61 फीसदी गिर गई है। वहीं, इस साल 2022 में 2.94 फीसदी की गिरावट आई है।  

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में टाटा मोटर्स में 40.08 लाख पब्लिक शेयरधारकों के पास 53.60 प्रतिशत हिस्सेदारी या 178 करोड़ शेयर हैं। पिछली तिमाही में 8 प्रमोटरों की 46.40 फीसदी हिस्सेदारी थी। जून तिमाही में 39,46,092 पब्लिक शेयरधारकों के पास टाटा मोटर्स के 49.50 करोड़ शेयर हैं। 53 सार्वजनिक शेयरधारकों के पास फर्म के 8.50 करोड़ शेयर हैं, जो 2 लाख रुपये से अधिक की व्यक्तिगत शेयर पूंजी के साथ 2.56 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। 

जून तिमाही के अंत में 48 म्यूचुअल फंड के पास 22.67 करोड़ शेयर या फर्म में 6.83 प्रतिशत हिस्सेदारी है। जून तिमाही के अंत में 582 विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के पास 45.52 करोड़ शेयर या 13.71 प्रतिशत हिस्सेदारी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.