मीशो ने बंद किया कारोबार, 300 कर्मचारी हुए बेरोजगार 

मुंबई- घरेलू सोशल कॉमर्स कंपनी मीशो ने कथित तौर पर भारत में अपना किराना कारोबार बंद कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सुपरस्टोर नाम की इस सेवा को भारत के 90 प्रतिशत से अधिक शहरों (नागपुर और मैसूर को छोड़कर) में बंद कर दिया गया है, जिसके परिणामस्वरूप बड़े पैमाने पर लोगों की नौकरी चली गई। कंपनी के इस फैसले से तकरीबन 300 कर्मचारियों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है। 

कंपनी ने इस बारे में अब तक कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। बता दें कि बीते अप्रैल में मीशो ने Farmiso को Superstore के नाम से रीब्रांड किया था, जिसका उद्देश्य टियर 2 बाजारों में ग्राहकों की मांग को पूरा करना था।  

अप्रैल महीने में कंपनी ने 150 से अधिक कर्मचारियों को निकाल दिया था जिनमें से ज्यादातर Farmiso से थे, क्योंकि इसका उद्देश्य कंपनी का अपने किराना व्यवसाय को मुख्य प्लेटफॉर्म के भीतर एकीकृत करना था। उससे पहले सोशल कॉमर्स प्लेटफॉर्म ने कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान भी 200 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी की थी।

ज्यादातर शहरों में कंपनी ने अपने किराना कारोबार का परिचालन बंद करने का फैसला कम राजस्व और अधिक खर्च को देखते हुए लिया। बता दें कि मीशो सुपरस्टोर छह राज्यों – कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में चल रहे थे। रिपोर्ट के मुताबिक मीशो ने नौकरी से निकाले गए लोगों को विच्छेद पैकेज के रूप में दो महीने का वेतन देने की पेशकश की है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.