पहली तिमाही में 15.7 फीसदी बढ़ सकती है देश की जीडीपी 

नई दिल्ली। देश की जीडीपी पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में 15.7 फीसदी की दर से बढ़ सकती है। तमाम संकेत ऐसे हैं जो इस तरह की वृद्धि दिखा रहे हैं। एसबीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, वैश्विक स्तर की चिंताओं, ऊंची महंगाई और अन्य भू-राजनीतिक समस्याओं के बावजूद अर्थव्यवस्था में अच्छी तेजी रहेगी।  

जीडीपी का आंकड़ा 31 अगस्त को जारी किया जाएगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि अर्थव्यवस्था के हाई फ्रिक्वेंसी वाले सभी संकेतक सुधार दिखा रहे हैं, पर सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में ज्यादा बेहतरी है। 41 हाई फ्रिक्वेंसी संकेतकों में से 89 फीसदी में बढ़त दिखी है। जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में 75 फीसदी की बढ़त दिखी थी।   

रेटिंग एजेंसी इक्रा ने कहा है कि पहली तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 13 फीसदी के आस पास रह सकती है। इसने कहा कि कुछ क्षेत्रों में अच्छी रिकवरी और तेजी से वैक्सीनेशन के चलते ऐसा होगा। जनवरी-मार्च के दौरान जीडीपी की विकास दर 4.1 फीसदी रही थी, जबकि वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान यह 8.7 फीसदी की दर से बढ़ी थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.