इन 6 शेयरों में एक-एक लाख का निवेश बन गया 66 लाख रुपये, जानिए कैसे 

मुंबई- कोविड-19 के प्रकोप के बाद शेयर बाजार में अच्छी संख्या में शेयरों ने अपने शेयरधारकों को मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। इसमें अडानी ग्रुप के सभी छह शेयर शामिल हैं- अडानी पावर, अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी ट्रांसमिशन, अडानी टोटल गैस, अडानी पोर्ट्स और अडानी ग्रीन एनर्जी।  

इन छह अडानी शेयरों ने पिछले दो सालों में अपने शेयरधारकों को मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। अगर किसी शेयरधारक ने दो साल पहले इन छह मल्टीबैगर शेयरों में से प्रत्येक में 1 लाख रुपये का निवेश किया होता, तो आज उनके पास कुल 66 लाख रुपये से अधिक की संपत्ति होती। 

अडानी पावर: इस अडानी समूह के शेयर एनएसई पर 21 अगस्त 2020 को 39 के स्तर पर बंद हुए थे, जबकि अडानी पावर के शेयर की कीमत अब 410 है। इसका मतलब है कि अडानी पावर के शेयर की कीमत पिछले दो वर्षों में लगभग 10.50 गुना बढ़ गई है। इसलिए, अगर किसी निवेशक ने दो साल पहले अडानी पावर के शेयरों में ₹1 लाख का निवेश किया होता, तो उसका ₹1 लाख आज ₹10.50 लाख हो जाता। 

अडानी एंटरप्राइजेज: शेयर इसी दौरान 233 के स्तर से बढ़कर अब ₹3,127 रुपये पर आ गया है। यानी  पिछले दो वर्षों में अडानी समूह का यह हिस्सा 13.40 गुना बढ़ गया है। इसका मतलब है कि अगर किसी निवेशक ने दो साल पहले इस स्टॉक में ₹1 लाख का निवेश किया होता, तो उसका ₹1 लाख आज ₹13.40 लाख हो जाता। 

अडानी ग्रीन एनर्जी में एक लाख का निवेश 6.45 लाख हो गया है। 21 अगस्त 2020 को ₹376.55 के स्तर पर बंद हुए थे, जबकि अडानी ग्रीन के शेयर की कीमत इस समय ₹2,422 है। अडानी ट्रांसमिशन का शेयर 272 के स्तर से अब 3,612 रुपये पर है। इस समय एक निवेशक 1 लाख से 13.25 लाख हो गया है। 

यही हाल अडानी टोटल गैस का है। इसका शेयर 165 रुपये से अब ₹3,380.80 प्रति शेयर है। इसमें ₹1 लाख का निवेश अब ₹20.40 लाख रुपये हो गया है। अदाणी पोर्ट के शेयर पिछले दो वर्षों में 354.35 से बढ़कर ₹870 हो गए हैं। ₹1 लाख का निवेश किया होता, तो यह आज ₹2.50 लाख हो जाता। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.