एटीएम से निकालते हैं पैसा तो जानिए नियम, कितना लगता है चार्ज 

मुंबई- बड़े बैंक, सरकारी या प्राइवेट, एटीएम से पैसा निकालने की गिनी-चुनी सुविधा देते हैं। एक महीने में निर्धारित एटीएम से अधिक निकासी करने पर अतिरिक्त शुल्क देना होता है। यह शुल्क 20-22 रुपये तक हो सकता है। एटीएम निकासी में फाइनेंशियल और नॉन फाइनेंशियल सर्विसेज भी शामिल हैं।  

अमूमन महीने में तीन लेनदेन मुफ्त होते हैं। इसके बाद अलग-अलग बैंकों का नियम और चार्ज है। रिजर्व बैंक ने पिछले साल एक सर्कुलर में बताया कि मंथली फ्री ट्रांजैक्शन से अधिक निकासी करने पर 21 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन की फीस लगेगी। नया नियम 1 जनवरी 2022 से लागू हो गया है। 

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में छह मेट्रो शहरों – दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु और हैदराबाद में स्थित एटीएम के लिए, अन्य बैंक के एटीएम के लिए मुफ्त लेनदेन की अधिकतम सीमा तीन है। पहले 25,000 रुपये के महीने में कम से कम बैलेंस (एबीएम) वाले खातों को एसबीआई के एटीएम पर असीमित लेनदेन की पेशकश की गई थी, लेकिन यह सुविधा अब केवल उन ग्राहकों के लिए उपलब्ध है जो 50,000 रुपये एबीएम बनाए रखते हैं। हालांकि, मेट्रो शहरों में मुफ्त लेनदेन की संख्या तीन तक सीमित है। 

मुफ्त सीमा से ज्यादा ट्रांजैक्शन के लिए एसबीआई ट्रांजेक्शन के प्रकार और एटीएम के आधार पर 5 रुपये से लेकर 20 तक का शुल्क लेता है। मुफ्त सीमा से अधिक गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए, ग्राहकों से लागू जीएसटी दरों के अलावा एसबीआई एटीएम पर 5 रुपये और अन्य बैंक एटीएम पर 8 रुपये का शुल्क लिया जाता है। 

एसबीआई एटीएम पर मुफ्त सीमा से अधिक नकद निकासी लेनदेन पर 10 रुपये का चार्ज लगाया जाता है। अन्य बैंक के एटीएम पर अतिरिक्त वित्तीय लेनदेन के लिए एसबीआई प्रति लेनदेन 20 रुपये का शुल्क लेता है। शुल्क के अलावा, ग्राहक के खाते से लागू जीएसटी भी लिया जाता है। 

पीएनबी एटीएम में महीने के 5 लेनदेन मुफ्त हैं। इसके अलावा किसी भी लेनदेन के लिए 10 रुपये का चार्ज देना होता है। हालांकि गैर-वित्तीय यानी कि नॉन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए 10 रुपये लिया जाता है। पीएनबी के अलावा अन्य बैंकों के एटीएम से ट्रांजैक्शन का नियम अलग है। एक महीने में मेट्रो सिटी में 3 फ्री ट्रांजैक्शन और गैर मेट्रो सिटी में 5 मुफ्त लेनदेन का नियम है। दूसरे बैंक के एटीएम से फ्री लिमिट के बाद फाइनेंशियल या नॉन वित्तीय लेनेदेन करने पर 20 रुपये का चार्ज लगता है। 

एक महीने में एचडीएफसी बैंक के एटीएम से केवल पहली 5 निकासी मुफ्त है. फ्री लिमिट से अधिक के लेन-देन पर इस प्रकार चार्ज लगाया जाएगा. नकद निकासी के लिए प्रति लेनदेन 20 रुपये प्लस टैक्स, गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 8.5 रुपये और टैक्स। किसी अन्य बैंक के एटीएम में (सभी सरकारी और निजी बैंक शामिल हैं) 6 मेट्रो शहरों (मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद और बेंगलुरु) में 3 मुफ्त लेनदेन की अनुमति है और 5 मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर) -वित्तीय) की सुविधा एक महीने में अन्य स्थानों पर दी जाती है। 

डेबिट कार्ड पिन री-जनरेशन का शुल्क 50 रुपये (लागू टैक्स के साथ) है। खाते में पैसे न रहें और कोई लेन देन न हो जाए तो उसका भी चार्ज लगता है। दूसरे बैंक के एटीएम में या मर्चेंट आउटलेट पर पर्याप्त बैलेंस नहीं होने पर ट्राजैक्शन डिक्लाइन हो जाए तो 25 रुपये का चार्ज देना होगा। 

आईसीआईसीआई बैंक में कार्ड के प्रकार और खाते के प्रकार के हिसाब से खाता धारक को रोजाना निकासी की सीमा दी जाती है। यह 50,000 रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक होता है। अगर आईसीआईसीआई बैंक के अलावा दूसरे बैंक के एटीएम से निकासी की जाए तो प्रति निकासी 10,000 रुपये की सुविधा मिलती है। एक महीने में आईसीआईसीआई एटीएम से 5 ट्रांजैक्शन फ्री है। उसके बाद के एटीएम विड्रॉल पर 20 रुपये प्लस जीएसटी देना होता है। यह लिमिट फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन के लिए है जबकि नॉन फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन का चार्ज 8.50 रुपये प्लस जीएसटी है। 

एक्सिस बैंक में रोजाना निकासी की सीमा 50,000 रुपये की है, डेली पीओएस ट्रांजैक्शन लिमिट 1,25,000 रुपये है। खाते में पर्याप्त राशि न हो और लेन देन न हो तो 25 रुपये का चार्ज लगेगा। महीने के 4 शुरुआती कैश ट्रांजैक्शन या 1.5 रुपये, जो भी पहले हो, वह मुफ्त सीमा में आता है। नॉन होम ब्रांच में एक दिन में 25,000 रुपये का कैश विड्रॉल फ्री है। इससे अधिक ट्रांजैक्शन करने पर प्रति हजार 5 रुपये देना होगा। अपने खाते में पैसे जमा करने या निकालने पर प्रति हजार 5 रुपये या 150 रुपये, जो भी अधिक हो, वह देना होगा। थर्ड पार्टी खाते में जमा करने पर 10 रुपये प्रति हजार या 150 रुपये, जो भी अधिक हो वह लिया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.