राकेश झुनझुनवाला नहीं रहे, जानिए कैसे हर्षद मेहता के बाद बने बिगबुल 

मुंबई- दलाल स्ट्रीट के बिग बुल राकेश झुनझुनवाला का आज सुबह निधन हो गया। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल ने सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर राकेश झुनझुनवाला की मौत की पुष्टि की। 5 हजार रुपए से 5.8 अरब डॉलर (करीब 46.18 हजार करोड़ रुपए) का सफर तय करने वाले शेयर बाजार के बिग बुल राकेश झुनझुनवाला 62 साल के थे। 

झुनझुनवाला ने पिछले हफ्ते ही ‘अकासा’ एयरलाइन के साथ एविएशन सेक्टर में भी एंट्री ली थी। झुनझुनवाला एक समय में स्टॉक मार्केट में बियर थे यानी मंदड़िए। उन्होंनें 1992 में हर्षद मेहता घोटाले का खुलासा होने पर शॉर्ट सेलिंग के जरिए बड़ा मुनाफा कमाया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया- राकेश झुनझुनवाला जिंदादिल, मजाकिया और दूरदृष्टि वाले इंसान थे।  

5 जुलाई 1960 को पैदा हुए झुनझुनवाला ने सीए की शिक्षा ली और पेशे से निवेशक बने। 46 हजार करोड़ की नेटवर्थ है। पत्नी रेखा , बेटी निश्था , बेटा आर्यमन और आर्यवीर झुनझुनवाला हैं। 1985 में शेयर बाजार में 5000 रुपये से कारोबार शुरू किया। इस दौरान टाटा टी के 43 शेयर खरीदे थे। 3 महीने बाद 143 रुपये के भाव से उसे बेच दिया और निवेश पर 3 गुना मुनाफा कमाया।  

2013 में नेटवर्थ 10 हजार करोड़ रुपये थी जो अब 43 हजार करोड़ है। यानी 9 साल में 4 गुना का इजाफा हुआ। उनके बडे निवेश में टाइटन में 9,174 करोड़, स्टार हेल्थ में 5,372 करोड़, मेट्रो ब्रांड में 2194 करोड़ और टाटा मोटर्स में 1606 करोड़ रुपये हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.