दूसरे साल भी मुकेश अंबानी ने नहीं लिया वेतन, 11 साल से कोई बढ़त नहीं 

मुंबई- रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने लगातार दूसरे साल भी कोई वेतन नहीं लिया है। साथ ही 11 साल से उनके वेतन में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। अंबानी ने कोरोना के कारण पिछले साल कोई वेतन नहीं लिया था। कंपनी की सालाना रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।  

रिपोर्ट के अनुसार, जून, 2020 में अपनी इच्छा से उन्होंने वेतन को छोड़ने का फैसला किया था। इन दो वर्षों में वेतन के अलावा भी उन्होंने न तो कोई भत्ता लिया और न ही कमीशन या शेयर विकल्प से कोई फायदा लिया। 

मुकेश अंबानी का वेतन सालाना 15 करोड़ रुपये है। 2008-09 से उन्हें यह वेतन मिल रहा है। कंपनी के बोर्ड में गैर कार्यकारी निदेशक नीता अंबानी को बैठक में शामिल होने के लिए 5 लाख रुपये लेती हैं। इसके पहले के साल में 8 लाख रुपये मिला था। इसके अलावा उनको 2 करोड़ रुपये का कमीशन भी मिला है। 2020-21 में उन्हें 1.65 करोड़ रुपये कमीशन मिला था। 

अंबानी के चचेरे भाई निखिल और हीतल मेसवानी को पिछले साल 24 करोड़ रुपये का वेतन मिला था। हालांकि यह उसके पहले के साल के ही बराबर है। इस बार उनको 17.28 करोड़ रुपये का कमीशन भी वेतन में शामिल है। कार्यकारी निदेशक पीएमएस प्रसाद और पवन कुमार के वेतन में मामूली गिरावट आई है। 

रिलायंस रिटेल ने वित्तवर्ष 2022 में 30,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है। इसके साथ ही इसने 2,500 नए स्टोर खोले हैं। इससे 1.50 लाख लोगों को रोजगार मिला। जिससे कुल रोजगार की संख्या 3.61 लाख हो गई। 

जियो ने देश के 1,000 शहरों में 5जी की सेवा को शुरू करने की योजना बनाई है। इसने इसके लिए कुछ प्रयोग भी किया है। इसने 80 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की बोली 5जी स्पेक्ट्रम में लगाई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.